सरकारी शिक्षक कैसे बने

 

 

भारत एक ऐसा देश है जहां पर हमेशा से ही प्राइवेट नौकरी के मुकाबले सरकारी नौकरी को वरीयता दी जाती है और ज्यादातर लोग सरकारी नौकरी ही करना चाहते है । पर भारत की अधिक जनसंख्या हमेशा से ही हर तरह की नौकरियों पर प्रभाव डालती रही है। जितने लोग नौकरी करना चाहते है उतनी नौकरी उत्पन्न नही हो पाती और ऐसे में कम्पटीशन बढ़ जाता है। आज भारत मे भी कम्पटीशन अपने चरम पर पहुंच चुका है। लोगों को नौकरी प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। और हज़ारो लाखों लोगों से बेहतर प्रदर्शन करने के बाद ही कहीं जाकर नौकरी मिलती है।

आज हम उन सभी सरकारी नौकरी के इच्छुक छात्रों को बताएंगे कि किस तरह वह अपने लिए एक सरकारी नौकरी पा सकते है।

*कौनसी सरकारी नौकरी करें?*

जैसा कि आप जानते है सरकारी नौकरी कई अलग अलग तरह के क्षेत्र में उपलब्ध होती है पर ज्यादातर क्षेत्र में कम्पटीशन की भरमार है। ऐसे में लोगों को अगर सरकारी नौकरी चाहिए तो उनको सोचना पड़ता है कि आखिर ऐसी कौनसी फील्ड है जिसमे वह कामयाब हो सकते है और सरकारी नौकरी पा सकते है।

बिना समय गवाए सीधे मुद्दे पर आते है। सरकारी नौकरी के इच्छुक व्यक्ति सरकारी टीचर की नौकरी के लिए प्रयास कर सकते है क्योंकि यह क्षेत्र अभी बाकी क्षेत्रो के मुकाबले कम कम्पटीशन देख रहा है। इसलिए हाल के समय को देखते हुए यह सबसे उत्तम विकल्प साबित हो सकता है।

अब आप लोगों के मन मे सवाल आ रहा होगा कि आप सरकारी टीचर कैसे बन सकते है? तो घबराने की जरूरत नही है हम आपकी उस परेशानी को भी इस पोस्ट के जरिए हाल कर देंगे।

*टीचर में पद का निर्णय ले*

अब आपने जब टीचर बनने का निर्णय ले लिया है तो आपको सबसे पहले यह निर्णय भी लेना होगा कि आप किस दर्जे के शिक्षक बनना चाहते है? टीचर के भी अलग अलग पद होते है जो कि अलग अलग कक्षा के छात्रों को पढ़ाने के लिए शिक्षित होते है।

•प्राइमरी स्कूल टीचर

•जूनियर हाई स्कूल टीचर

•उच्च माध्यमिक या माध्यमिक स्कूल टीचर

• प्रोफेसर

तो मुख्य रूप से शिक्षक इन्ही चार पदों पर काम करते है और पढ़ाते है। आपको निर्णय लेना होता है कि आप कौनसी नौकरी करना चाहते है और उसी हिसाब से आपको अपनी पढ़ाई करनी होती है और एग्जाम देने होते है।

 

*अलग अलग पदों के लिए क्या क्या पढ़ाई करें?*

• प्राइमरी स्कूल टीचर बनने के लिए आपको D. Ed करना होता है। यह दो साल का कोर्स होता है जिसे आप सरकारी या प्राइवेट इंस्टीटूट में से कहीं से भी कर सकते है। यह कोर्स आपको प्राइमरी स्कूल में पढ़ाने के काबिल बना देता है। मात्र इसी कोर्स से आप बड़े आराम से प्राइवेट स्कूल में पढ़ा सकते है।

• बड़े लेवल पर पढ़ाने के लिए आपको B. Ed करना पड़ेगा। इसका फुल फॉर्म Bachelor of Education होता है। यह 2 साल की डिग्री होती है । जिसे ग्रेजुएशन करने के बाद किया जा सकता है। B.ed करने के लिए आपको एक एंट्रेंस क्वालीफाई करने होता है जो कि स्टेट लेवल पर राज्यो द्वारा कराया जाता है। इस कोर्स के बाद आप सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पढ़ाने के काबिल हो जाते है।

• कॉलेज में पढ़ाने के लिए UGC NET की परीक्षा जो कि CBSE द्वारा कराई जाती है उसका टेस्ट देना होता है। यह टेस्ट यह determine करता है की आप कॉलेज में पढ़ाने लायक है या नही। कॉलेज लेवल पर पढ़ाने के लिए इस टेस्ट को देना अनिवार्य है। इसके जरिये आप असिस्टेंट प्रोफेसर जैसी पोस्ट पा सकते है।

*सरकारी शिक्षक कैसे बने?*

सरकारी शिक्षक बनने के लिए आपको ऊपर दिए गए कोर्स में से किसी एक को करना होगा। अगर आप सरकारी शिक्षक की नौकरी के लिए तैयार है और ऊपर के दिये गए कोर्स में कोई कोर्स कर कर चुके है तो आपको नौकरी के लिए भटकने की जरूरत नही है। सरकारी स्कूल व सरकारी कॉलेज में समय समय भर्तियां निकलती रहती है आप उनमे अप्लाई कर सकते है और नौकरी पा सकते है।

B. Ed करने के बाद TET और CTET का एग्जाम और क्लियर करना होगा। बिना इसको क्लियर करे आप टीचर की नौकरी नही पा सकते । यह B. Ed के छात्रों के लिए बहुत जरूरी है।

*शिक्षक बनकर कितनी कमाये कर सकते है?*

शिक्षक बनकर आप अच्छी कमाई कर सकते है न केवल कमाई बल्कि आप दूसरो को शिक्षित करके एक बेहतर देश बनाने में भी अपना योगदान करते है। एक सरकारी शिक्षक की कमाई 15000 से 20000 तक तो शुरुआत मेंआराम से हो सकती है। जैसे जैसे समय बीतता है यह कमाई भी बढ़ती जाती है और शिक्षक एक अच्छा खासा पैसा कमा लेते है।

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!