आयुर्वेदिक डॉक्टर बनना चाहते BAMS करके बनाये करियर

BAMS Me Career Kaise banaye in hindi- अगर आपका भी सपना आयुर्वदिक डॉक्टर बनने का है, तो इस आर्टिकल में आपको Ayurvredic Doctor kaise bane इसके बारे में डिटेल में जानकारी मिलेगी।

आयुर्वदिक डॉक्टर के तौर पर कैरियर बनाने के लिए आपको BAMS (Bachelor Of Ayurvredic Medicine Surgury) कोर्स करना होगा। इसके माध्यम से आप आयुष डॉक्टर या आयुर्वदिक डॉक्टर बनने का सपना पूरा कर सकते हैं। इस पोस्ट में BAMS course details In Hindi इसके बारे में आपको पूरी इन्फॉर्मेशन मिलेगी। यंहा पर हम। आपको बीएएमएस कोर्स से जुड़ी हर जानकारी देंगे। जिससे कि आप इस फील्ड में आसानी से कैरियर बना सकेंगे।

अगर आप बीएमएस में कैरियर बनाना चाहते हैं या BAMS कोर्स करना चाहते हैं तो इसके लिए 12वीं पीसीबी सब्जेक्ट से कम से कम 50% अंको से पास होना चाहिए। इसके बाद आप BAMS Course कर सकते हैं। इस कोर्स की अवधि साढ़े 5 साल होती है। जिसमे एक साल की इंटर्नशिप भी शामिल है।

भारत इन बीमारियों के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है, जिसके लिए एक समर्पित आयुर्वेदिक डॉक्टरों की बड़ी और कुशल टीम की आवश्यकता होगी। इसलिए आज की युवा पीढ़ी के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सा में अपना करियर बनाने के लिए एक अच्छी गुंजाइश है कि वे न केवल अच्छा भविष्य बनाये, बल्कि समाज में उच्च सम्मान भी प्राप्त करें।

आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए योग्यता :
बीएएमएस कोर्स के लिए कैंडिडेट को फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी के साथ मे 10+2 कम से कम 50% अंको से पास होना चाहिए। इसके साथ ही कैंडिडेट की उम्र कम से कम 17 बर्ष होना जरूरी होता है।

इस कोर्स की फीस 15 हजार से लेकर 3 लाख प्रतिबर्ष के बीच होती है। ये फीस कॉलेज के द्वारा प्रदान की जाने सुविधाओं के अनुसार अलग- अलग होती है। गवर्नमेंट कॉलेज में फीस काफी कम चुकानी पड़ती है, वंही प्राइवेट कॉलेज में फीस लाखों रुपए प्रतिबर्ष चुकानी होती है। गवर्नमेंट कॉलेज में इसको फीस 15 से 50 हजार प्रतिबर्ष के बीच होती है।
 
कोर्स:
बहुत से स्टूडेंट्स का ये क्वेश्चन रहता है कि क्या NEET Exam बीएएमएस कोर्स के लिए जरूरी है, तो हम आपको बता दें कि हां अगर आपने नीट एग्जाम क्वालीफाई किया है, तो ही आप BAMS Course में एडमिशन के लिए योग्य हैं।नीट एग्जाम क्वालीफाई करने के बाद मेरिट के आधार पर आपकी रैंक तय की जाती है। इसी रैंक के अनुसार आपके कॉउंसिलग के माध्यम से कॉलेज का आवंटन होता है। अगर आपकी रैंक अच्छी है तो आपको Government College मिल जाता है। वंही अगर आपके कम मार्क्स हैं तो फिर आपको प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन मिल सकता है।

बीएएमएस में कैरियर स्कोप की बात करें तो इसमे बहुत ही अच्छा कैरियर स्कोप है। BAMS Scope को लेकर आपके मन मे कोई भी डाउट नही होना चाहिए । इस कोर्स के बाद आपके पास बेहतरीन Career के ऑप्शन होते हैं। BAMS करने के बाद आप प्राइवेट और गवर्नमेंट दोनो सेक्टर में Job कर सकते हैं।

जिस तरह से आज के समय मे Hospital और नर्सिंग होम तथा क्लीनिक्स की संख्या बढ़ रही है। जिसकी वजह से Ayurvredic Doctor या BAMS डिग्री होल्डर की मांग भी बढ़ रही है। इस फील्ड में जॉब के लिए आपको भटकना नही पड़ता है। अगर आप जॉब नही करना चाहते हैं तो आप खुद का क्लीनिक स्टार्ट कर सकते हैं। इसके लिए आपको क्लीनिक का रजिस्ट्रेशन कराना होगा। जोकि काफी आसानी से हो जाता है।

फीस और अन्य व्यय:
कॉलेज से कॉलेज में फीस में differece होता है, BAMS डिग्री के लिए कुल कोर्स की फीस सरकारी कॉलेज में कुछ हजारों से लेकर लगभग 5 लाख रुपये तक होती है।

उम्मीदवार को NEET 2020 (नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट) जैसे राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा से गुजरना चाहिए। उम्मीदवार राज्य स्तरीय परीक्षाओं के लिए भी आवेदन करते हैं जैसे:

  • OJEE 2020 (ओडिशा संयुक्त प्रवेश परीक्षा)
  • KEAM 2020 (केरल इंजीनियरिंग, कृषि और चिकित्सा)
  • GCET 2020 (गोवा कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)
  • BVP CET 2020 (भारती विद्यापीठ कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)
  • IPU CET 2020 (इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)

उम्मीदवार का चयन अंतिम योग्यता के आधार पर होता है।

आयुर्वेदा की कुछ Specializations कोर्सेज इस प्रकार है:

  • बीएएमएस करने के बाद कैंडिडेट के पास अनेक कैरियर के ऑप्शन होते हैं। लेकिन कोई भी इन कैरियर ऑप्शन को अपनाना नही चाहता है। इसका मुख्य कारण ये होता है कि जो भी स्टूडेंट BAMS करता है, उसका सीधा सा एक ही लक्ष्य होता है कि उसको डॉक्टर बनना है। बस लोग बीएएमएस के बाद इसी कैरियर ऑप्शन को चुनते हैं। हम आपको बता दें डॉक्टर बनने के अलावा भी BAMS के बाद अनेक कैरियर के विकल्प होते हैं। आप चाहें तो इन सेक्टर में भी जा सकते हैं, जैसेकि-लेक्चररथेरेपिस्ट

    आयुर्वेदिक फार्मासिस्ट

    साइंटिस्ट

    मेडिकल सेल्स रिप्रेजेंटेटिव

    जूनियर क्लीनिकल ट्रायल कॉर्डिनेटर

    एरिया सेल्स मैनेजर

    प्रोडक्ट मैनेजर

    सेल्स एग्जीक्यूटिव

    BAMS के बाद जॉब के क्षेत्र

    हॉस्पिटल

    नृसिंग होम

    क्लीनिकल ट्रायल्स

    एजुकेशन

    हेल्थकेयर आईटी

    आयुर्वदिक रिसोर्ट

    स्पा रिसोर्ट

    कॉलेजेस

    रिसर्च इंस्टीट्यूट

    गवर्नमेंट हॉस्पिटल

    प्राइवेट हॉस्पिटल

    पंचकर्म आश्रम

    लाइफ साइंस सेक्टर

    फार्मेसी सेक्टर

    इंसोरेंस सेक्टर

BAMS के पूरा होने के बाद कैरियर का अवसर केवल भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी है। कई organizations विदेशों में अनुसंधान क्षेत्र में काम कर रहे हैं और इस क्षेत्र में professionals की आवश्यकता होती है।

BAMH (बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी) की डिग्री रखने वाले उम्मीदवार डॉक्टर के रूप में अप्लाई कर सकता है ऐसी जगहों पर और एक अच्छी practise के माध्यम से अपना बढ़िया करियर के साथ साथ famous भी बन सकता है।

आयुर्वेद में सरकारी क्षेत्र में भी नौकरी के अच्छे अवसर मौजूद हैं। एक आयुर्वेदिक फार्मासिस्ट के रूप में सरकारी आयुर्वेद अस्पताल में नौकरी मिल सकती है। इस कोर्स के पूरा होने के बाद, उम्मीदवारों के पास आयुर्वेद दवाओं की अपनी खुद की दुकान खोलने का भी अवसर है।
बीएएमएस graduates के लिए शिक्षण क्षेत्र भी खुला है। वे private और government आयुर्वेद संस्थानों में रोजगार पा सकते हैं।

आयुर्वेदिक डॉक्टर की सैलरी:

बीएएमएस कोर्स एक ऐसी कोर्स में जिसमे सैलरी काफी मोटी दी जाती है मेडिकल सेक्टर में जितने भी डॉक्टर की कोर्स है उसमे काफी ज्यादा सैलरी दी जाती है। वैसे तो बीएएमएस कोर्स करने के बाद आप कई सारे पदों पर नौकरी कर सकते है और हर पद पे अलग अलग सैलरी दिया जाता है। पर एक अनुमानित सैलरी की बात करे तो इसमें शुरुवाती दिनों में लगभग कुछ इस प्रकार सैलरी दिया जाता है।

  • आयुर्वेदिक डॉक्टर:- 8 लाख से 12 लाख प्रतिवर्ष
  • आयुर्वेदिक फिजीशियन:- 3.5 लाख से 5 लाख प्रतिवर्ष
  • फार्मासिस्ट:- 3 लाख से 5 लाख प्रतिवर्ष
  • सेल्स रिप्रेजेंटेटिव:- 2.5 लाख से 4 लाख प्रतिवर्ष
  • मेडिकल ऑफिसर:- 4 लाख से 6 लाख प्रतिवर्ष
  • लेक्चरर:- 3 लाख से 6 लाख प्रतिवर्ष

इसके बाद आपका अनुभव जैसे जैसे बढ़ता जाएगा आपका सैलरी भी बढ़ता जाएगा। वही यदि आप खुद का कोई हॉस्पिटल या क्लिनिक खोलते है तो आप महीनो में लाखो आसानी से इनकम कर सकते है।

BAMS कोर्स को करने वाले छात्रों के लिए कुछ रोजगार क्षेत्र इस प्रकार हैं:
  • Ayurvedic Doctor
  • Lecturer
  • Therapist
  • Scientist
  • Medical sales representative
  • Natural pharmacist
  • Junior clinical trial coordinator
  • Sales executive
  • Product manager
  • Medical officer
  • Ayurvedic researcher
  • Work in nursing home
  • Area sales manager
  • Category manager

Leave a Comment

error: Content is protected !!