Bachelor of Physiotherapy (BPT) कैसे करें , कहाँ एडमिशन लें , कितना कमा सकते हैं

फिजियोथेरेपी क्या है और इसके महत्वपूर्ण तथ्य :

मानव शरीर मे कुछ बीमारी जन्मजात होती है और कुछ बीमारी बाद में होती है जैसे पेरेलिसिस। फिजियोथेरेपी के द्वारा इसका इलाज किया जाता है, जन्मजात विकलांग को भी फिजियोथेरेपी के द्वारा आजकल ठीक किया जा रहा है। फिजियोथेरेपी को इलाज का नवीन रूप माना जाता है लेकिन वास्तव में यह योग, मालिस, कसरत व व्यायाम का मिला जुला रूप है जो भारत मे सदियों से चल रही है। मानिसक तनाव, घुटना में दर्द, हाथ मे दर्द, हैडहेक होना, पीठ व कमर में दर्द आदि का यह सरल इलाज है, व इन सब रोगों के लिए बिना किसी मेडिसिन लिए या चीरा लगाए बिना ही अच्छा व सस्ता में इलाज हो जाता है।

फिजियोथेरेपी क्या है?

यह एक तरह का इलाज है जिसके लिए प्रशिक्षित फिजियोथैरेपिस्ट के द्वारा इलाज किया जाता है, शरीर के अंग को एक निश्चित अनुपात में रखकर शरीर के मांसपेशियों को अनुपात में फिक्स करता है, जो दर्द रहता है उसे रिलीफ मिलता है। फिजियोथेरेपी को हिंदी में भैतिक चिकित्सा पद्धति कहा जाता है। फिजियोथेरेपी सभी के लिए आरामदायक है, अगर आप स्वस्थय है फिर भी आप फिजियोथेरेपिस्ट से मदद ले सकते है ताकि भविष्य में किसी तरह का प्रॉब्लम न हो।

BPT क्या है व BPT करने की योग्यता?

BPT का फुल फॉर्म है Bachelor of Physiotherapy होता है, अगर आप कोर्स करने के बारे में सोच रहे है तो ऐसे में आपको बता दु इसके लिए 4 साल व 6 महीने का वक़्त लगता है, 4 साल की पढ़ाई होती है और 6 महीने का इंटरशिप उसके बाद आपको फिजियोथेरेपी का डिग्री मिल जाता है, और आप किसी अस्पताल में या फिर खुद के फिजियोथेरेपी क्लीनिक लगा सकते है। BTP करने के लिए आपके पास 10+2 अर्थात इंटरमीडिएट में साइंस स्ट्रीम होना चाहिए वह भी फिजिक्स, केमिस्ट्री व बायो में तभी आप BTP कर सकते है, साथ ही आपको 10+2 में 50% से ऊपर परसेंट होना जरूरी है।

BPT में कौन से डिपार्टमेंट होते है :

यदि आप BPT करने का सोच रहे है तो ऐसे में आपको किस ब्रांच में फिजियोथेरेपी करना है इसका चुनाव आप अपने पंसद के अनुसार कर सकते है आप एक्सरसाइज थेरेपी, आर्थोपेडिक्स और स्पोर्ट्स फिजियोथेरेपी, न्यूरो फिजियोथेरेपी, कम्युनिटी बेस्ड रिहैबिलिटेशन व एनाटोमी आदि ब्रांच से BPT की डिग्री हासिल कर सकते है, और आपको इस फील्ड में कोर्स करने का फायदा भविष्य में आएगा जब आप जॉब सर्च करते है उस वक़्त आता है।

फिजियोथेरेपी में आपका जॉब किसी क्षेत्र में मिलता है :

आपका जॉब डिफेंस सेक्टर में, प्राइवेट सेक्टर में, किसी स्कूल व महाविद्यालय में, किसी बोर्डिंग स्कूल में, ट्रेनिंग सेंटर, ऑर्थोपेडिक डिपार्टमेंट, स्पोर्ट्स ट्रेनिंग सेंटर में व फिटनेस जोन आदि जगहों पर आपकी जॉब लग सकती है और अच्छा पैकेज ऑफर भी होता है।

फिजियोथेरेपी करने के बाद किस टाइटल के लिए जॉब मिलता है :

आप फिजियोथेरेपी का कोर्स करते है तब आपको अस्सिस्टेंट फिजियोथेरेपिस्ट, टीचिंग फील्ड में, रिसर्च कर सकते है, कस्टमर केअर अस्सिस्टेंट, थेरेपी मैनेजर व रिहेब अस्सिस्टेंट आदि के लिए जॉब मिल सकता है, आप जितना मेहनत करेंगे उसका फल आपको इस फील्ड में मिलेगा।

फिजियोथेरेपी कोर्स करने के फायदे :

• आप स्वयं का फिजियोथेरेपी क्लीनिक खोल सकते है।
• मेडिकल के क्षेत्र में भी आप अपना कैरियर बना सकते है, आज के समय मे मेडिकल फील्ड में इसका डिमांड है।
• फिजियोथेरेपी करने के बाद आप प्राइवेट या फिर गोवरमेंट हॉस्पिटल में जॉब कर सकते है सभी हॉस्पिटल में आज के समय मे फिजियोथेरेपिस्ट की डिमांडिंग है ऐसे में आप समय का फायदा उठाये।
• विदेश जाने का सुनहरा मौका है, विदेशों में भी फिजियोथेरेपिस्ट की डिमांड बढ़ रही है और वहाँ मंथली सैलरी 1 लाख से कम नही होती है।
• फिजियोथेरेपिस्ट बने के बाद गोवरमेंट क्षेत्र में भी वर्क कर सकते है, विकलांग रिहेब सेंटर में भी वर्क कर सकते है।

फिजियोथैरेपी में क्या करना होता है?

फिजियोथेरेपी में फिजियोथेरेपिस्ट के द्वारा मसाज, बॉडी को स्ट्रेचिंग, एक्सरसाइज करने को व योग करने की सलाह दी जाती है, औषधि प्रयोग कैसे करना होता है इसके बारे में पूर्ण जानकारी मिलती है। कैसे करना है और कब कब करना है इसका डेली रूटीन बनाकर एक्सप्लेन करते है, यह एक नवीन चिकित्सा पद्धति है, जिसका डिमांड बढ़ रही है।

भारत में BPT किस कॉलेज से करें :

भारत में बहुत सारे कॉलेज है जहाँ से आप BPT कर सकते है, इसका डिमांड दिन ब दिन बढ़ रहा है, ऐसे में आप ऐसे कॉलेज का चुनाव करे जहाँ की पढ़ाई अच्छी हो इंटरशिप भी अच्छा हो साथ ही अगर कोई कॉलेज प्लेसमेंट दे रहा है तो आप उस कॉलेज का चुनाव कर सकते है। आपके BPT करना है तो उसके लिए एंट्रेस एग्जाम देना होगा, 12वी के बाद आप जिस कॉलेज से BPT करना चाहते है वहाँ का एंट्रेस एग्जाम दे व सेलेक्शन मेरिट लिस्ट के द्वारा होता है, भारत मे बहुत से नामचीन कॉलेज है जो पेपर कंडक्ट कराते है, साथ ही गोवरमेंट के द्वारा भी कुछ सीट का अलॉट होता है देश के नामचीन गोवरमेंट कॉलेज में एडमिशन के लिए वह खुद ही पेपर कंडक्ट करते है। देश के कुछ कॉलेज –

1. क्रिश्चिन मेडिकल कॉलेज वेल्लोर, यहाँ का फीस लगभग 3.28 लाख है।
2. श्री रामा चंद्रा इंस्टीट्यूट फ़ॉर हायर एडुकेशन एंड रीसर्च (SRIHER) , चेन्नई, यहाँ का फीस लगभग 1.53 लाख हैं।
3. इंटीग्रल यूनिवर्सिटी लखनऊ उत्तरप्रदेश, यहाँ का फीस लगभग 1लाख है।
4. असम डाउन टाउन यूनिवर्सिटी, गुवाहाटी में है यहाँ का फीस करीब 1.2 लाख है।
5. पारुल यूनिवर्सिटी, वड़ोदरा गुजरात, यहाँ का फीस 1.5लाख तक है।
6. रायत बाहर यूनिवर्सिटी मोहाली, पंजाब, यहाँ का फीस करीब 1.6 लाख है।
7. हिमालयन यूनिवर्सिटी, ईटानगर, यहाँ का फीस करीब 1.2 लाख है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!