Courier company का Franchise कैसे लें – कैसे खोलें कूरियर सर्विस पूरी जानकारी

जबसे इ कॉमर्स बिज़नेस का प्रचलन तेज़ी से बढ़ा है साथ ही साथ कूरियर सर्विस का बिज़नेस और फ्रैंचाइज़ी का डिमांड भी उतना ही तेज़ी से बढ़ रहा है । कूरियर सर्विस फ्रैंचाइज़ी में बहुत अच्छी कमाई है वैसे तो हमारे यहाँ प्रमुख कूरियर कंपनी DTDC , BLUEDART , DHL , FEDEX , FIRST FLIGHT और Indian Postal service है साथ ही साथ ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल्स जैसे Amazon , Flipkart , Snapdeal , e -bay के कूरियर फ्रैंचाइज़ी का विकल्प भी हमारे पास है।

अगर आप कूरियर सर्विस खोलना चाहते हैं तब सबसे अच्छा होगा के आप किसी नामी कूरियर कंपनी का फ्रैंचाइज़ी ले कर काम शुरू करें , एक बात ध्यान दें की फ्रैंचाइज़ी लेने के लिए आप किसी थर्ड पार्टी के पास नहीं जाइये बल्कि आप कंपनी के official website पर जाकर डायरेक्ट फॉर्म भरें या उनके website पर दिए गए फ़ोन नंबर पर कांटेक्ट करें क्यूंकि ऐसा देखा गया है के असामाजिक तत्वा कूरियर फ्रैंचाइज़ी दिलाने के बहलावा देकर हमारे देश के मासूम लोगों से ठगी का धंदा करते हैं उससे आप सतर्क रहें ।

यदि हम DTDC courier service फ्रैंचाइज़ी की बात करें तो उनके वेबसाइट पर franchise मेनू पर जाकर Opportunities मेनू सेलेक्ट करके schemes सेलेक्ट करें यहाँ आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी जैसे कितना खर्चा आएगा , क्या requirement है , कितना प्रॉफिट है इत्यादि।

गाँव और शहरी क्षेत्र के अनुसार DTDC ने फ्रैंचाइज़ी का fees अलग अलग 3 केटेगरी में बाँट दिया है जैसे

Category A – Rs.1,50,000
Category B – Rs.1,00,000
Category C – Rs.50,000

classification of indian cities विकिपीडिया और DTDC स्कीम ka लिंक मैंने निचे दे दिया हैं

कूरियर franchise लेने के लिए हमें क्या क्या चाहिए :-

ऑफिस के लिए जमीन :- ऑफिस के लिए ग्राउंड फ्लोर पर रोड फेसिंग जमीन हो तो कंपनी ज्यादा preference देती हैं अगर ग्राउंड फ्लोर पर जमीन न भी हो तो आप उनसे बात कर सकते हैं ।

Security Deposit :- आपको सिक्योरिटी डिपाजिट जमा करना पड़ेगा और आप किस एरिया केटेगरी में आते हैं उस हिसाब से सिक्योरिटी डिपाजिट हैं ।

Franchise unit चलाने के लिए काम करने वाले स्टाफ :- यह भी एरिया केटेगरी के ऊपर निर्भर करता हैं जैसे Category A: 4 staff
Category B: 3 staff
Category C: 2 staff

Courier Franchise Responsibility :- फ्रैंचाइज़ी मिलने के बाद हमारे कुछ कर्तव्य हैं जिसका हमें ध्यान रखना पड़ता हैं जैसे :-

डिलीवरी करना :- पार्सल को डिलीवर करना हमारा मुख्य उद्देश्य हैं , पार्सल को सही समय पर डिलीवर करना

कंपनी ब्रांडिंग :- कंपनी की ब्रांडिंग का ख्याल रखना ऐसा कोई काम नहीं करना जिससे कूरियर कंपनी की बदनामी हो ऐसा करने पर हमारा फ्रेंचाइजी लाइसेंस भी रद्द हो सकता हैं

Staff Maintenance – अपने फ्रैंचाइज़ी यूनिट के स्टाफ मैनेटेनन्स पर ध्यान देना बहुत जरूरी हैं क्यूंकि यह देखा गया हैं के स्टाफ मेंटेनेंस जिसने कर लिया उसने यह बिज़नेस सही से चला लिया

कूरियर फ्रैंचाइज़ी से महीने में कितना कमा सकते हैं :-

यदि आप अच्छे से काम करें और आप शहरी क्षेत्र एरिया केटेगरी A में आते हैं तब आप लगभग Rs.1,50,000 महीने की कमाई कर सकते हैं इसी तरह केटेगरी B वाले Rs.75,000 और केटेगरी C वाले Rs.40,000 लगभग कमा सकते हैं.

यह तो हुई DTDC कूरियर फ्रैंचाइज़ी की बात इसी तरह आप DHL या Bluedart कूरियर का भी फ्रैंचाइज़ी ले सकते हैं , बढ़ते ऑनलाइन बिज़नेस के प्रचलन से इन onine e commerce shopping portal की निजी कूरियर कंपनी जैसे EKart , Amazon Logistics , Delhivery , Gojavas इत्यादि भी विकल्प हैं ।

तो आज हमने इस पोस्ट में जाना के हम Courier Franchise कैसे ले और इससे हम कितना पैसा कमा सकते हैं , एकबात ध्यान देने योग्य हैं के यदि हम इस काम को मन लगा कर करते हैं और स्टाफ मैनेजमेंट कर लेते हैं तब हम इस बिज़नेस में बहुत आगे जाने वाले हैं , असल स्टाफ को मैनेज कर के चलना ही मेन चैलेंज होता हैं हमारे पास पर्याप्त स्टाफ हमेशा मौजूद होने चाहिए यदि कोई कूरियर सर्विस डिलीवरी छोड़ कर जाता भी हैं तब दूसरा स्टाफ उसको बैकअप कर ले , कंपनी के पास delay delivery complain ना जाये इससे कंपनी की ब्रांडिंग पर सवाल उठते हैं और हमारे फ्रैंचाइज़ी की लाइसेंस पर भी खतरा होता हैं

यदि आपके पास डेढ़ से २ लाख रूपये और जगह हैं तब आप यह काम आसानी से शुरू कर सकते हैं , इ कॉमर्स डिलीवरी फ्रैंचाइज़ी भी ले सकते हैं इसमें भी अच्छी कमाई हैं

indian cities category classification और DTDC स्कीम ka लिंक निचे हैं

https://en.wikipedia.org/wiki/Classification_of_Indian_cities

DTDC franchise scheme :-

http://www.dtdc.in/fr_schemes.asp

 

3 thoughts on “Courier company का Franchise कैसे लें – कैसे खोलें कूरियर सर्विस पूरी जानकारी

Leave a Comment

error: Content is protected !!