बकरी पालन एक लाभदायक व्यवसाय – जानें पूरा तरीका Goat Farming in Hindi

दोस्तों आज हम बात करेंगे बकरी पालन की जोकी अगर सही और लेटेस्ट तरीके से किया जाये तो  बहुत ही लाभकारी व्यवसाय है । मैं आपको आज प्रैक्टिकल तरीके से बताऊंगा के हम बकरी पालन कैसे करें जिससे हमें लाभ ही लाभ हो और यह व्यवसाय को आगे बढ़ा सकें । आपने यह देखा होगा की हमारे बहुत सारे किसान भाई जो बकरी पालन करते हैं सही और लेटेस्ट जानकारी नहीं होने के कारन उन्हें ज़्यादा मुनाफा नहीं मिल पाता, आज हम इस आर्टिकल में वह सारी जानकारियां देंगे जो बकरी पालन व्यवसाय को सही तरीके से करने में मदद करेगा । Goat Farming का Hindi में विस्तार से पूरा तरीका बहुत ही काम जगह पर दिया गया है, इसीलिए हमलगों ने आपकी मदद के लिए पूरा तरीका information देने की कोशिश की है।

आपको मैं यह बता दूँ के मेरा खुद का बकरी फार्म है और जिस तरीके से मैंने बकरी पालन का प्रशिक्षण लेकर जिन बातों को सीखा और उसे इस्तेमाल कर के लाभ उठाया आप को भी बताना चाहता हूँ ।

बकरी पालन का तरीका तथा बकरी पालन कैसे करें Goat Farming Business Plan

बकरी के शेड बनाने के लिए सही जगह का चुनाव करें

बकरी फार्म हाउस या बकरी के शेड बनाने के लिए सही जगह का चुनाव करना बहुत ज़रूरी है, बकरी के शेड के लिए हम ऐसे जगह को चुनें की जहाँ बकरियों के चरने की जगह और आस पास का क्षेत्र हरा भरा हो जिससे हम बकरियों को चरा कर उसे हरा चारा भी उपलब्ध करा सकें, शहर से दूर किसी गाओं क्षेत्र में ऐसे जगह आसानी से उपलब्ध हैं , एक से दो एकड़ की जमीन यह व्यवसाय शुरू करने के लिए काफी है मैंने अपना बकरी फार्म सिर्फ एक एकड़ जमीन से शुरू किया था शुरू के दिनों में मैंने 20 बकरी और एक बकरा रखा था जो अभी बढ़ कर 100 हो गया है ।

बकरियों  का आवास कैसा हो बकरी शेड बनाने का सही तरीका क्या है

सही जगह के चुनाव के बाद अब बारी है बकरियों के शेड की  ध्यान रहे की बकरियों का शेड बनाने से पहले जमीन का बाउंड्री जरूर करवा दें 6 फिट का बाउंड्री वाल अवश्य करवा लें और पानी के लिए बोरिंग भी  करवा लें जिससे इससे बाड़े को सेफ्टी और पशुओं के पीने के लिए साफ़ पानी मिल सके, बाउंड्री वाल आप अच्छा है के ईट और सीमेंट का बनाएं और अगर बजट कम है तो बांस के बाड़े भी बना सकते हैं।

मैं आपको 20 बकरी और एक नर बकरा से शुरुआत करने की सलाह दूंगा जोकि बजट में भी है और रिस्क भी कम है । इसके लिए आपको 80 x 14 वर्ग फ़ीट का शेड बनाना है जिसमे आप आसानी से 100 बकरी रख सकते हैं , हमें यह विशेषज्ञों द्वारा बताया जाता है की कम से कम एक बकरी को रखने के लिए 10 -12 वर्ग फ़ीट का जगह जरूर रखें।

बकरी का शेड बनाते  समय इन बातों का अवश्य ध्यान रखें:-

  • शेड के दाहिने बाईं और पीछे के वाल की हाइट कम से कम 12  फ़ीट का हो, और 10 इंच वाल बनायें ताकि गर्मी और ठन्डे के मौसम में शेड के अंदर का तापमान अनुकूल रहे । सामने का वाल 5  फ़ीट का रखें और उसमें 7 फ़ीट ऊपर तक जाली लगा दें जिससे क्रॉस वेंटिलेशन अच्छा होगा और फ्रेश हवा शेड के अंदर आएगी जो बकरियों के स्वास्थ के लिए बहुत जरूरी है ।
  • शेड का छत एस्बेस्टस का बनायें ।
  • शेड की जमीन को थोड़ा ढाल बनायें ताकि मल-मूत्र आसानी से बह सके । जमीन बनाने के लिए ईट का इस्तेमाल करें उसके ऊपर से मट्टी का एक लेयर बना दें
  • बकरी घर के अंदर 3  सेक्शन जरूर बनायें जिसमे बकरी बकरा और बच्चे अलग अलग रह सकें तथा बकरियों के खाने के लिए मेंजर या नाद सीमेंटेड बना दें

बकरी के सही नसल का चुनाव करें Breed Selection

अब हमारा शेड तैयार है, अब हमें चाहिए के बकरियों के सही नस्ल का चुनाव करें । ध्यान रहे दोस्तोँ के बकरी के सही नसल का चुनाव ही आपको बकरी पालन में सफलता की ऊंचाइयों तक ले जायेगा । सही नसल के चुनाव के लिए हमें एक बात ध्यान में रखनी है के हम जिस वातावरण में रहते हैं वहां के अनुकूल ही बकरियों का नसल का चयन करें अगर हम अपने क्षेत्र बिहार की बात करें तो यहाँ ब्लैक बंगाल बकरी और बीटल बकरा का चयन सबसे अच्छा चयन है।

इसी तरह

राजस्थान में सिरोही , बीटल ,सोजात

UP में बारबरी और जमुनापारी

दक्षिण भारत में ओस्मनाबादी, तेल्लीचेर्री

पश्चिम बंगाल में ब्लैक बंगाल इत्यादि प्रमुख नस्लें हैं

इस उदाहरण में मैं ब्लैक बंगाल बकरी और बीटल बकरा के बारे में बात करूंगा । 20 ब्लैक बंगाल बकरी में एक बीटल बकरा रखें । यह नस्लें बिहार , झारखण्ड और पश्चिम बंगाल के वातावरण के अनुकूल हैं और बीमार भी कम पड़ते हैं । सरकार बकरी पालन अथवा गाय पालन की नयी नयी योजनाए भी चला रही है । आप अपने नज़दीकी पशु पालन विभाग या बाएफ में जाकर बकरी पालन लोन के लिए बकरी पालन फॉर्म भी भर सकते हैं

बकरी खरीदने समय हम यह ध्यान दें की बकरी वयस्क हो सबसे अच्छा तो यह है की उन बकरियों को ख़रीदे जिसका एक ब्याँत यानि वो एक बार बच्चा दे चुकी हो इससे हमें बाँझ बकरियों का खतरा नहीं रहता अन्यथा फार्म का प्रोडक्शन जल्दी होता है

बकरियों को चारा कैसा दें – Feeding Information

बकरी पालन में हम मुख्य रूप से बकरियों के मांस और दूध बेच कर ही पैसे कमाते हैं जो की पूर्णयता इसके खोराक और चारे पर निर्भर करती है यदि हम सही चारा देंगे तो बकरी का विकास अच्छा होगा और हमें दाम भी अच्छे मिलेंगे । सही चारे से प्रजनन क्षमता भी बढ़ती है ।

एक बात ध्यान देने योग्य है और मैंने यह सीखा है के बकरी पालन का मुख्या लागत बकरी के चारे में ही खर्च होता है हमें यह चाहिए के हम चारे में जितना पैसा बचा सकें उतना अच्छा है , चारा में पैसा बचाने का मतलब हरगिज यह नहीं है के हम चारा में कटौती करें बल्कि इसका सही मतलब है के हम बकरी के लिए चारा स्वयं पैदा करें । हो सके तो एक एकड़ जमीन में हम मक्का , बरसीम इत्यादि रोप कर हरी चारा का बंदोबस्त कर दें इससे हम चारा में बहुत पैसा बचा सकते हैं और बकरियों को आहार भी पौष्टिक मिलता है ।

दो तरह के चारे हम बकरियों को जरूर दें एक हरा चारा और दूसरा सूखा चारा हरा चारा में तो पत्ते,घांस , बरसीम , मक्का इत्यादि अवश्य दें और सूखे चारे के रूप में  हम 100 kg सूखा चारा बना के रख लें

  • मकई का दर्रा – 30 kg
  • गेहू का चोकर – 40  kg
  • खल्ली (मूंग फली ) – 10  kg
  • चने का छिलका – 15 kg
  • मिनरल मिक्सचर पाउडर – 4 kg
  • नमक – 1  kg

यह चारा बकरियों को दिन में सुबह शाम कुट्टी यानि कटे हुए पोवाल में मिला कर दें एक बकरी के चारे का औसत एक पाओ (२५० ग्राम ) कुटटी में 300 ग्राम यह सूखा चारा मिला कर थोड़ा पानी दे कर संद दें और खाने दें इससे बकरियों का विकास बहुत अच्छा होगा और दिन में हरा चारा दें  7 से 8 महीने के भीतर बकरे का वजन 25 -30 kg  का हो जाता है यह वजन आपके बकरियों के नसल पर भी निर्भर करता है ।

सही समय पर प्रजनन – Information about reproduction

जैसे ही बकरी गरम हो हमें यह चाहिए के हम 12 – 24 घंटे के अंदर ही उसको अपने बकरे से पाल खिलवा दें इससे गर्भ धारण में आसानी होती है । बच्चा देने के पष्चात 30 से 40 दिन के भीतर यदि वो दोबारा हीट में आ जाये तो दोबारा पाल खिलवाएं सही समय पर प्रजनन होना बहुत जरुरी है इसी पर  हमारे फार्म का प्रोडक्शन   निर्भर करता है ।

बकरियों का टीकाकरण और डीवॉर्मिंग – Vaccination information for goats

बकरियों को शेड के अंदर डालते ही टीकाकरण और डीवॉर्मिंग जरूर करवा दें फुट एंड माउथ डिजीज (FMD) , PPR  , CCPP और एन्टेरोटोक्सिमिआ का टीका एक बार जरूर लगवा दें इससे इनमे प्रमुख रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ जाती है और यह बीमार भी कम पड़ते हैं ।

प्रत्येक 3  माह में एक बार  डीवॉर्मिंग जरूर करें, अल्बेंडाजोल टेबलेट या इसके अल्टरनेटिव टेबलेट्स बाजार में उपलब्ध है डॉक्टर की सलाह से अपने पशुओं को दें  । पेट का कीड़ा मारने से इनमें विकास तेज़ी से होता है और यह स्वस्थ भी रहते हैं ।

बकरियों को सही मूल्य में बेचकर ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाएं

किसी भी बिज़नेस को करने में मजा तब आता है जब हमें उसका रिटर्न अच्छा मिले तथा इसके लिए हमे बकरियों को सही दाम में बेचना बहुत जरुरी  है आप अपने लोकल मार्किट पर ज्यादा निर्भर हैं इसके साथ साथ आप को चाहिए के आप अपने बकरी फार्म का प्रचार अच्छे से करें ताकि आपको बल्क आर्डर आये जैसे शादी ब्याह में , हॉस्पिटल में , मिलिट्री कैंट में , बाड़े से बाड़े होटलों में आप संपर्क करें और उचित मूल्य प्राप्त करें.

दोस्तोँ यदि आप मेरे बताये गए तरीके से बकरी पालन करते हैं तो आपको जरूर अच्छा मुनाफा होगा और इस क्षेत्र में आप ज्यादा से ज्यादा आगे बढ़ेंगे हम आशा करते हैं के आपको यह जानकारी काफी अच्छी लगी होगी आप बस थोड़ा धैर्य रख कर पशुओ से प्रेम करते हुए इस काम को करें हो सकता है के आपको प्रथम वर्ष में ज़्यादा आमदनी भी न हो लेकिन आप धैर्य से काम लें और लगातार काम करें एक साल के पश्चात् आपका फार्म का प्रोडक्शन बहुत अच्छा हो जायेगा उचित दामों में आप मांस और दूध बेच कर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

चारा में अगर आप पैसा बचा सकते हैं तो आपका मुनाफा और अधिक हो जाएगा इसके लिए आप ज्यादा से ज्यादा अपने खली जमीन का उपयोग करें तथा सालों भर हरा चारा उगते रहें और अपने चारे का खर्चा बचाएं बकरियों को दिन भर हरे भरे मैदान में चरायें वो स्वयं अपना पेट भर लेगी शाम को वापस शेड के अंदर घुसते समय एक बार सूखा चारा दे दें

आप धैर्य और सच्चे रुचि से काम करें याद रहें दोस्तोँ अगर आप सच्चे पशु प्रेमी हैं तो आपके लिए यह काम बहुत ही अच्छा है और आपको इस काम में बहुत मन लगने वाला है और आप दिन दुगुनी रात चौगनी तरक्की करेंगे, यदि आपके मन में कोई प्रशन है तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें

जरूर पढ़ें – किन बातों का रखे ध्यान – सस्ते और अच्छे नसल वाले बकरी के बच्चे कहाँ से खरीदें 

धन्यवाद

32 thoughts on “बकरी पालन एक लाभदायक व्यवसाय – जानें पूरा तरीका Goat Farming in Hindi

  1. सर मै उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थ नगर से हूँ कृपया हमे बकरी के बच्चों की ख़रीद के बारे में जानकारी दे की कहाँ से अच्छे नस्ल के बकरे कहाँ से मिलेगे मुझे भी गोट फार्मिंग में अपना कैरियर बनाना है

    • Hindily ko sampark karne ka dhanyawad sanjeev ji, waise to uttar pradesh ke local market mein aapko bahut sare naslon ke bache mil jayenge, agar aapko saste aur ache nasal ke bache lene hain to ekbaar aap maharashtra deonar bakra mandi mein saturday market mein chale jayen wahan aapko bahut saste aur ache ache nasal ke bakre bakriyan mil jayenge , kewal 3 se 4 hajaar ke jode bache bhi mil jate hain jo aapko anya market mein kahin nahin milengi, thoda transporting cost ayega phir bhi aapko saste hi padenge.

    • Hindily ko sampark karne ka dhanyawad wasim ji, UP ke climate ke anoosar bahut sari bakriyon ki breed hain jo U.P ke jalwayu ke anukool hain, aap sankar nasal ka chayan karein , pure breed mein barbari aur jamunapari UP ke pramukh naslen hain , waise sirohi aur beetel ka bhi chayan kar sakte hain , goat farming loan hetu aap jila ke pashupalan vibhag ko sampark karein sarkar ki bahut sari pashupalan yojnayen hain aapko apke kshetra ke anusaar jaankari di jayegi , sarkar ki taraf se subsidy bhi milta hai aap ek baar karyalay mein ja kar pata awashya karein , dhanyawaad

  2. Sir namskar me ek bat puchhana chahta hun ki agar ham goat farm kholte hai to bakri ko charane le jana padega ya farm par hi sukha chara khila kar rakh sakte hai man lo rajasthan ki raj ,me to baris etni hoti nahi hai to kya kare or konsi nasl rakhe jo 8mahune tak sukha chara khila kar rakh sakte hai puri jankari devo

    • हिंदली को संपर्क करने के लिए धन्यवाद् प्रकाश जी , देखिये अगर आप के पास सूखा चारा पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है तो उसे फार्म में ही खिला सकते हैं कहीं चराने ले जाने की आवशयकता नहीं , आपके राजस्थान क्षेत्र के लिए सिरोही और बीटल नसल के बकरे बहुत अच्छे माने जाते हैं , यह जल्दी बड़े भी हो जाते हैं और राजस्थान के वातानुकूल होते हैं बीमार भी कम पड़ते हैं आप इन्ही नस्लों का चयन करें , धन्यवाद्

  3. Sir namaskar m M.P bhopal S huin yanh per kis nasl ki goat ko Lena uchit hoga yanh pr paryapt matra m pani & hara chara h plz btaiye

  4. मैं अजय कुमार यूपी के सोनभद्र जिले से हूं, मेरे यहाँ माँस के उद्देश्य से कौन सी नस्ल अच्छी रहेगी और बच्चे कहाँ से मिलेंगे ?

  5. सर हम उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले से है हमें यहाँ किस नस्ल की बकरी को पलना चाहिए हम छोटा प्लांट लगाना चाहते

  6. Maharashtra me mans ke liye kaun se nasal ki bakri ko palna chahiye?
    Aapka koi contact number hai jispe me call kar ke thodi aur jankari le saku?

  7. बकरी पालन के लिए लोन कैसे और कहां से लें व एंसोरेंस कहां से करवाएं

    • pashu palan ke anek yojnayen bharat sarkar ke taraf se chalaye ja rahe hain apne area ke pashu palan vibhag ko sampark karein , Dhanyawad

    • Hindily ko sampark karne ka dhanyawad Sonu kumar ji , haryana ke liye aap sirohi , beetel , jamunapari aur sojat nasal ke bakriyon ka chayan kar sakte hain..

    • Hindily ko sampark karne ka dhanyawad Mahboob Ji , Bihar ke jalwayu ke hisaab se aap barbari , sirohi , jamunapari , black bengal bakri ke naslo ka chayan kar sakte hain , bihar aur jharkhand mein black bengal ke kale bakre jisko sab desi bhi kahte hain uska bahut demand hai isiliye aap black bengal bakri ko osmanabadi ya beetel bakra se cross karaye to ache nasal ke kaale bakre milte hain jiska daam bhi acha milta hai..

    • Mahboob bhai aap Bihar Gaya mein desi bakri palan jo kale rang ki hoti hai black bengal se beetal ka cross karein , Bihar mein iska bahut demand hai

    • हिंदली को संपर्क करने का धन्यवाद् अरुण कुमार जी , हरयाणा , उत्तर परदेश इन सभी क्षेत्रो के लिए लगभग नसल चयन बराबर है आप सिरोही , जमुनापारी , सोजत , बीटल , क्रॉस ब्रीड , बर्बरी सभी पाल सकते हैं , लेकिन देखना यह है की लोकल मार्किट में डिमांड किसका है , उसी बकरी नसल का चयन करें जिसका ग्रोथ रेट अच्छा है , जैसे सोजत , बीटल इत्यादि , boer goat अफ्रीकन ब्रीड है यह खासकर मांस उत्पादन के लिए पाला जाता है इसका ग्रोथ रेट बहुत अच्छा होता है और काफी महंगा बिकता है

  8. DEAR SIR,
    BAHOT HI LAJWAB POST INFORMATIONS HAI.
    GOD MAY SUCCEED YOU IN YOR WORK. AMEEN
    MAIN ABHI SAUDI MAIN ENGR HOON AND GORAKHPUR MAIN GOAT FARMING START KARNA CHAHTA HOON. PLS HELP
    KOIN SA NASL SE START KAROON. MERE PAAS 31 DECIMAL NEAR TOWN MAIN LAND HAI. AUR KAHAN SE BAKRI PURCHASE KAROON
    I NEED UR HELP AND SUGGESTION.
    CHAHTA HOON 100-150 BAKRI KA FARM PROJECT START KAROON

    • बहुत शुक्रिया अनवर जी , आपने बहुत अच्छा सोचा है बकरी पालन सच में बहुत लाभदायक है , गोरखपुर में आप सिरोही , सोजत , बीटल, बर्बरी अथवा क्रॉस ब्रीड्स रख सकते हैं , मैं आप को 50 से शुरुआत करने का मशवरा दूंगा , बकरी पालन में आप इतनी तरक्की करें की दोबारा आपको सऊदी जाने के ज़रूरत ही न पड़े , मैं आप को पूरा सहयोग करूंगा आप बस हिम्मत करके काम शुरू करें

      • Dear Sir,
        Thanks for your reply. with Best wishes
        app ne jo jaankari di uska bahut hi dhanyavad.
        sir aap se sampark kaise ker sakte hai.
        by email or any other contact info.

Leave a Comment