महिलाओं के लिए सरकारी योजनाएं – Sarkari Yojana For Women in Hindi

महिलाओं के लिए सरकारी योजनाएं…- हमारे देश में महिलाओं की स्थिति में सुधार के लिए सरकार द्वारा कई तरह के प्रयत्न किए जा रहे हैं। महिलाओं की स्थिति पारिवारीक माहौल को आगे बढ़ाने की परिस्थितियों से बदल जाती है। महिलाओं के विकास और कल्याण के लिए सरकार द्वारा कदम उठाना बहुत ही जरूरी है। महिलाओं को समाज में पुरूष के समान अधिकार और स्थान देने के लिए सरकार काफी हद तक प्रयास कर रही है। सरकार ने ऐसी कई योजनाएं महिलाओं के लिए चलाई है जिससे महिलाओं को कई हद तक फायदा मिल रहा है और साथ ही महिलाएं देश के विकास में अपनी अहम भूमिका भी निभा रही है। आज हम आपको सरकार द्वारा महिलाओं के लिए चलाई जा रही योजनाओं के बारें में बताएंगे ताकि आपको भी इसकी जानकारी हो सके।

सुकन्या समृद्धि योजना

हमारे समाज में कई तरह के अपराधों ने जन्म लिया है जिन्होंने बेटी और बेटे में फर्क पैदा करके रख दिया। बेटे के जन्म पर खुश सभी होते हैं लेकिन बेटी को कोई जन्म नहीं देना चाहता। गरीब माता-पिता सोचते हैं कि बेटा होगा तो कमाके देगा और बेटी हुई तो कौन शादी का खर्च उठाएगा। इसी सोच ने हमारे देश में कन्या भू्रण हत्या जैसे अपराध को जन्म दिया है। इसी अपराध को रोकने और कन्याओं के बेहतर भविष्य के लिए सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना को शुरू किया है। इस योजना को भारत सरकार ने 22 जनवरी 2015 को लागू कर कन्या भू्रण हत्या और कन्याओं के कल्याण के लिए ये कदम उठाया है।

इस योजना के अन्तर्गत गरीब माता-पिता को अपनी बेटी की पढ़ाई और शादी के लिए सरकार पैसा मुहैया करवाती है। इस योजना का लाभ लेने के लिए माता-पिता को अपनी बेटी के लिए नजदीकी बैंक या डाकघर मंे में खाता खुलवाना अनिवार्य होता है। इस योजना का लाभ लेने के लिए बेटी का जन्म प्रमाण पत्र होना चाहिए। साथ ही माता-पिता का परिचय पत्र और जिस जगह आप रहते हैं उस पते का प्रूफ होना चाहिए। माता-पिता अपनी बेटी का खाता जन्म से लेकर जब तक वो दस वर्ष की ना हो तब तक कभी भी खुलवा सकते हैं। इस योजना से 8.6 प्रतिशत की ब्याज की दर का लाभ मिलता है।

इस योजना में खाते मंे सालाना न्यूनतम एक हजार से 1.5 लाख तक जमा रख सकते हैं। इस योजना के लिए सरकार द्वारा कुछ नियम भी बनाए गए हैं जैसे एक परिवार में यदि आपके तीन बेटियां है तो आपकी दो बेटियों का ही खाता खूल पाएगा और यदि उन तीन बेटियों में दो जुड़वा है तो तीनों इसका फायदा ले सकती है।

सिंड महिला शक्ति योजना

भारत में महिला उद्यमियों को बढ़ावा देने के लिए और भारतीय बाजार के विकास के लिए सिंडीकेट बैंक के तहत महिलाओं के लिए एक योजना चल रही है जिसका नाम सिंड महिला शक्ति योजना है। इस योजना के तहत सिंडीकेट बैंक महिलाओं की योजना के अनुसार उन्हें व्यवसाय में निवेश हेतु लोन अवेलेबल करवाती है।

पायलट प्रोजेक्ट योजना

दोस्तों कई बार हमारे देश में महिलाएं जब मां बनती है तो बच्चे को जन्म देते ही उनकी मृत्यु हो जाती है। ऐसे में भारत सरकार द्वारा एक कदम उठाया गया ताकि माता मृत्यु दर में कमी की जा सके। सरकार द्वारा भारत के 53 जिलों में ये योजना चलाई जा रही है जिसमें महिलाओं के गर्भवती होने पर सरकार द्वारा उनके खाते में छह हजार रुपये पौष्टिक आहार,टीकाकरण और डिलीवरी के लिए जमा किए जाते हैं। ये योजना गर्भवती महिलाओं के कल्याण के लिए भारत सरकार द्वारा 2017 शुरूआत में चलाई गई।

महिला ई-हाट योजना

कई महिलाएं गृहणियां होती है ऐसी बहुत कम महिलाएं होगी जो जाॅब करती हों। इसीलिए गृहणियों के लिए घर बैठे अच्छी इनकम करने के लिए सरकार द्वारा ये योजना चलाई जा रही है जिसमें महिलाएं घर बैठे काम करके अच्छे खासे पैसे कमा सकती है। ये योजना महिला एवं बालविकास मंत्रालय के तहत चलाई जा रही है। ये एक महिलाओं को ओनलाइन मार्केट उपलब्ध कराता है जिसमें महिलाएं अपने द्वारा बनाए गए कुछ भी सामान या चीजें ओनलाइन बेच सकती है और अच्छा पैसा कमा सकती है।

कई महिलाओं की रूचि सजावटी सामान बनाने में होती है तो कई महिलाओं की रूचि पहनावे से सम्बन्धित चीजें बनाने की होती है तो यही सोचकर महिलाओं के कौशल के विकास के लिए ये योजना चलाई जा रही है। इस योजना का फायदा भारत की हर महिला ले सकती है किन्तु उनके पास किसी चीज को बनाने का कौशल होना चाहिए तभी वो उस योजना का लाभ उठा पाएगी।

प्रधानमंत्री मुद्रा स्कीम योजना

दोस्तांे आपने देखा होगा पुरूषों द्वारा बिजनेस हर क्षेत्र में किया जाता है जिसमें सरकार उनकी मदद करती है। ठीक इसी तरह व्यवसाय के उद्देश्य से सरकार ने महिलाओं को लोन देने की एक स्कीम बनाई है जिससे महिलाएं के व्यवसाय को एक नई दिशा मिलेगी और महिलाओं की स्थिति में भी सुधार होगा। इस लोन का फायदा महिलाएं किसी भी बैंक से उठा सकती है।

महिलाओं को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए सरकार द्वारा पच्चास हजार से लेकर दस लाख रुपये तक का लोन इस स्कीम के तहत दिया जाता है। सरकार महिलाओं द्वारा तैयार योजना के डाक्यूमेंट्स आदि से संतुष्ट होते हैं और देखते हैं कि इनकी आर्थिक स्थिति पैसे चुकाने की है या नहीं, तभी इस स्कीम के तहत महिलाओं को लोन दिया जाता है।

वैभव लक्ष्मी योजना

हमारे देश में कई गृहणियां स्वयं का व्यवसाय शुरू करना चाहती है लेकिन उन्हें निवेश सम्बन्धित दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। महिलाओं को व्यवसाय के क्षेत्र में सहायता करने के लिए सरकार ने लोन देने की कई योजनाएं चलाई है जिनमें वैभव लक्ष्मी योजना भी एक मुख्य है। इस योजना के अन्तर्गत बैंक आॅफ बडौदा महिलाओं की सहायता करता है। बैंक आॅफ बडौदा द्वारा महिलाओं को व्यवसाय के लिए उनकी व्यवसाय की पूरी योजना देख संतुष्ट होकर दिया जाता है। इस योजना का लाभ महिलाएं अपने नजदीकी बैंक आॅफ बडौदा की किसी भी शाखा से ले सकती है।

भामाशाह योजना

दोस्तों हमारे देश में सरकारी अस्पतालों में सुविधाएं वक्त पर न मिलने से गरीब से गरीब लोग भी अब प्राइवेट अस्पतालों में जाने लगे हैं। हर कोई यही सोचता है कौन असुविधा भरे माहौल में जाकर बीमारी में और ज्यादा परेशान हो। इसके चलते महिलाओं की स्थिति गंभीर दिखाई देती है। भारत के राजस्थान राज्य में राज्य सरकार ने महिलाओं के कल्याण हेतु एक योजना की शुरूआत की जिसका नाम भामाशाह योजना रखा गया। इस योजना के अनुसार महिलाओं का तीन लाख तक का कोई भी आॅपरेशन हो उसकी राशि सरकार द्वारा दी जाती है।

इससे फायदा ये है कि चाहे इस योजना का लाभ सरकारी ही नहीं बल्कि प्राइवेट हाॅस्पिटल चाहे वो कोई सा भी हो से भी उठा सकते हैं। यदि महिला राजस्थान राज्य की है तो वो इस योजना का लाभ उठा सकती है। राजस्थान में कई प्राइवेट हाॅस्पिटल आदि में भामाशाह योजना का लाभ उठाया जा रहा है। इस योजना के तहत महिलाओं का आॅपरेशन करने पर राज्य सरकार प्राइवेट हाॅस्पिटल जिस भी हाॅस्पिटल में आॅपरेशन किया जा रहा हो को पैसों का भुगतान कर देती है। इस योजना के तहत महिलाओं का एक कार्ड बनाया जाता है जिसे भामाशाह कार्ड के नाम से जाना जाता है। इसीलिए यदि आप राजस्थान राज्य की महिलाएं हैं तो कृपया ई-मित्र पर जाकर अपना भामाशाह कार्ड जरूर बनवा दें ताकि इस योजना का लाभ आप आसानी से उठा सके।

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना

आज के इस युग में कई तरह के विकास हमें देखने को मिले हैं लेकिन गांवों में आज भी कई घरों में गैस सिलेंडर आदि की सुविधाएं महिलाओं को नहीं है। ग्रामीण क्षेत्रों में विकास करने और महिलाओं की स्थिति में सुधार करने के लिए भारत सरकार द्वारा उज्जवला योजना चलाई जा रही है। बढ़ते प्रदुषण को रोकने और महिलाओं को गैस कनेक्शन देकर उनकी सहायता करने के उद्देश्य से भारत सरकार ने इस योजना की शुरूआत की।

इस योजना का उद्देश्य पांच करोड़ महिलाओं को गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने की योजना है। ये कनेक्शन लेने के लिए सबसे पहले जनगणना लिस्ट में नाम देखना होता है कि उसमें नाम है या नहीं। इस योजना के अनुसार गैस कनेक्शन के लिए जो खर्च आता है उसमें से 1600 रुपये भारत सरकार के द्वारा दिए जाते हैं। इसके बाद यदि आप गैस स्टाॅव लेना चाहते हैं तो सरकार आपको ईएमआई पर दे सकती है जिससे महिलाओं को काफी फायदा होगा। इसके योजनाओं के लिए भी कुछ पात्रता रखनी जरूरी होती है जैसे महिलाआंे की उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए क्योंकि ये कनेक्शन महिलाओं के नाम पर होगा यदि वह बीपीएल वर्ग से है अगर बीपीएल के अलावा है तो उसमें पुरूष भी अप्लाई कर सकते हैं।

इसके बाद प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत बैंक में अकाउंट खूला होना चाहिए तभी इस योजना का लाभ मिल सकेगा। इसके बाद जो परिवार इस योजना के लिए अप्लाई कर रहा है उस परिवार के किसी भी सदस्य के नाम पर पहले से कोई गैस कनेक्शन नहीं होना चाहिए। यदि परिवार के किसी भी सदस्य के नाम पर पहले से कोई गैस कनेक्शन है तो आप इस योजना का लाभ नहीं उठा पाएंगे। तो दोस्तों आज हमने जाना कि भारत में महिलाओं के कल्याण और विकास के लिए कौन-कौन सी योजनाएं चलाई जा रही है जिसका महिलाएं फायदा उठा सकती है।

4 thoughts on “महिलाओं के लिए सरकारी योजनाएं – Sarkari Yojana For Women in Hindi

    • अंजनी जी नमस्ते
      आप अपने पास वाले गैस गोदाम पर जाइए वहां पर
      पति पत्नी का आधार कार्ड
      भामाशाह कार्ड
      राशन कार्ड
      और राशन कार्ड में 18 साल से ऊपर की किसी भी एक सदस्य का जाति प्रमाण पत्र होना चाहिए
      योजना हमारे जिले में तो एसटी-एससी पर ही लागू है
      आप को शत् प्रतिशत गैस कनेक्शन मिल जायेगा

Leave a Comment

error: Content is protected !!