मेडिकल स्टोर कैसे खोले पूरी जानकारी

नमस्कार दोस्तों डॉक्टर व मेडिकल स्टोर दोनों एक ऐसे काम हैं जो किसी भी स्थिति में किसी भी देश में या किसी भी समय में चलते ही (Medical store kaise open kare) रहते हैं। चाहे किसी देश में आर्थिक मंदी आये या व्यक्ति के पास खर्च करने को पैसा ना हो या कोई और स्थिति हो, यह दोनों ही चीज़े ना कभी बंद होगी और ना हो सकती (How to open medical store in Hindi) हैं। ऐसे में बहुत से लोग अपना मेडिकल स्टोर खोलने का विचार करते हैं।

अब डॉक्टर बनना तो सभी के बस की बात नही होती और साथ ही इसमें बहुत सा पैसा व समय भी लगता हैं। तो वही डॉक्टर के बराबर का ही काम फार्मेसी वालों का अर्थात मेडिकल स्टोर वालों का होता हैं। लोग उन्हें भी डॉक्टर की नज़र से ही देखते हैं और समाज में उनका सम्मान भी उतना ही होता हैं। ऐसे में उयादी आप भी मेडिकल स्टोर कैसे खोले या मेडिकल स्टोर खोलने के लिए क्या करें इत्यादि के लिए चिंतित हैं तो आज हम आपके साथ वही साँझा करेंगे।

 मेडिकल स्टोर कौन कौन खोल सकता है

अब जब आपने मेडिकल स्टोर होता क्या है और उस पर क्या क्या काम होता है इत्यादि के बारे में विस्तार से जान लिया हैं और अब आप अपने स्वयं का एक मेडिकल स्टोर खोलने के इच्छुक हैं तो आइए जाने मेडिकल स्टोर खोलने के लिए आपको क्या क्या करना पड़ेगा।

बिना डिग्री के मेडिकल स्टोर कैसे खोले

यदि आप पढ़ाई नही करंक चाहते हैं और फिर भी अपना एक मेडिकल स्टोर खोलकर पैसे कमाना चाहते हैं तो इसका तरीका थोड़ा पेचीदा अवश्य हैं लेकिन असंभव नही। दरअसल ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि सरकार केद्वारा मेडिकल स्टोर का लाइसेंस केवल उन्ही व्यक्तियों को दिया जाता हैं जिन्होंने फार्मेसी में डिग्री प्राप्त की हो।

ऐसे में यदि आप बिना डिग्री के मेडिकल स्टोर खोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास पैसा ज्यादा होना चाहिए क्योंकि इसमें आपको अधिक पैसा निवेश करना पड़ेगा। इसमें आपके पास 2-3 तरह के विकल्प हैं जिससे आप बिना किसी डिग्री के मेडिकल स्टोर खोल पाएंगे।

  • पहले तरीके के अनुसार आप किसी मेडिकल स्टोर वाले के साथ पार्टनरशिप कर सकते हैं। ऐसी स्थिति में वह लाइसेंस इत्यादि तो उसी व्यक्ति के नाम पर होगा जिसका वह मेडिकल स्टोर हैं लेकिन आप उसके बिज़नेस में निवेश कर वह बिज़नेस बढ़ाने में सहायता कर सकते हैं। ऐसा करके आप कुछ ही समय में लाभ कमाना शुरू कर सकते हैं।
  • आप किसी मेडिकल स्टोर खोलने जा रहे व्यक्ति को अपनी जमीन व जगह किराये पर दे सकते हैं। जहाँ पर मेडिकल स्टोर खोला जाता हैं वहां से आपकी आय भी बहुत अच्छी होगी क्योंकि यह बिज़नेस वर्ष के हर दिन चलता हैं। ऐसे में भी आप मेडिकल स्टोर खोलकर अच्छा खासा पैसा कम सकते हैं।
  • यदि आप चाहते हैं कि मेडिकल स्टोर केवल आपके नाम पर ही हो और उसमे किसी और की हिस्सेदारी ना हो तो इसके लिए भी आप एक तरीका अपना सकता हैं। आप अपने किसी जानने वाले या किसी अन्य व्यक्ति को अपने यहाँ नौकरी पर रख सकते हैं जिसने फार्मेसी में डिग्री प्राप्त की हो। अब उस व्यक्ति के नाम पर उस मेडिकल स्टोर का लाइसेंस देकर मेडिकल स्टोर खोला जा सकता हैं। ऐसे में मालिक तो आप ही रहेंगे लेकिन बस लाइसेंस उसके नाम रहेगा जिसने वह डिग्री ली हुई हैं।

मेडिकल स्टोर का रेजिस्ट्रेशन कैसे करे

अब जब आपने फार्मेसी में डिग्री प्राप्त कर ली हैं तो बात करते हैं मेडिकल स्टोर खोलने की और उसका लाइसेंस हासिल करने की। कहने का अर्थ यह हुआ कि (Medical store ka licence kaise banaye) एक मेडिकल स्टोर खोलने के लिए केवल फार्मेसी में डिग्री ले लेना ही पर्याप्त नही होता हैं जबकि आपको उसके लिए लाइसेंस की भी आवश्यकता होती हैं।

इसमें दवाइयां बेचने के लिए दो तरह की लाइसेंस दिए जाते हैं (Medical store ka licence kaise banta hai)। इनमे से आप किसी भी लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं। आइए दोनों के बारे में जाने।

शॉप का रेजिस्ट्रेशन :

  • मेडिकल या दवाई आदि से संबंधित बिज़नेस के लिए केंद्र व राज्य सरकार के द्वारा कई तरह के लाइसेंस प्रदान किये जाते हैं। उदाहरण के तौर पर दवाइयां बनाने का लाइसेंस या उसे बेचने का लाइसेंस या फिर इनका इम्पोर्ट एक्सपोर्ट का लाइसेंस इत्यादि। ऐसे में आज हम दवाई बेचने अर्थात मेडिकल स्टोर खोलने के लाइसेंस के बारे में बात करेंगे।

बिज़नेस का रेजिस्ट्रेशन :

  • यह लाइसेंस मेडिकल स्टोर खोलने से संबंधित तो नही हैं लेकिन उसका जो काम होता हैं, उससे संबंधित हैं। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि ड्रग का होलसेल लाइसेंस लेकर आप मेडिकल स्टोर तो नही खोल पाएंगे लेकिन आप मेडिकल स्टोर को दवाइयां बेच पाएंगे या फिर किसी व्यक्ति को जो इसका काम करता हैं उसे थोक में दवाइयां बेच पाएंगे।

GST : Goods and Services Tax

मेडिकल स्टोर खोलने के लिए आपको जिस लाइसेंस की आवश्यकता पड़ेगी वह होगा रिटेल ड्रग लाइसेंस। इसमें आप एक मेडिकल स्टोर खोलकर होलसेल में दवाइयां खरीद पाएंगे और फिर उसे आम नागरिकों को बेच पाएंगे।

Drug license : 

अब बात करते हैं मेडिकल स्टोर के लाइसेंस के लिए आवेदन कहा किया जाता हैं और इसके लिए क्या क्या चीज़ की आवश्यकता पड़ती हैं। दरअसल वैसे तो केंद्र सरकार व राज्य सरकार दोनों ही ड्रग लाइसेंस देती हैं लेकिन यदि आप मेडिकल स्टोर का लाइसेंस लेना चाहते हैं तो वह आपको अपने राज्य की राज्य सरकार से ही मिलेगा।

मेडिकल स्टोर का लाइसेंस राज्य सरकार के द्वारा अधिकृत State Drug Standard Control Organization (SDSCO) जारी करता हैं। इसके लिए आपको एक निर्धारित प्रक्रिया का पालन करना होगा। आइए चरण दर चरण रूप से मेडिकल स्टोर का लाइसेंस लेने के बारे में जाने।

  • सबसे पहले तो अपने राज्य का नाम लिखकर फिर State Drug Standard Control Organization करें। इसके बाद आपके राज्य की SDSCO की वेबसाइट https://cdsco.gov.in/opencms/opencms/en/State-Drugs-Control/ आ जाएगी जिसे आपको ओपन करना हैं।

 

मेडिकल स्टोर खोंलने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  1. आपके मन में शंका होगी कि आखिरकार एक मेडिकल स्टोर का लाइसेंस लेने के लिए किन किन डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता पड़ सकती हैं। तो आइए उनी सूची भी जान लेते हैं:
    • आधार कार्ड
    • फार्मेसी की डिग्री
    • फार्मेसी की मार्कशीट्स
    • आवास प्रमाण पत्र
    • मेडिकल स्टोर खोलने वाली जगह का प्रमाण पत्र
    • कवर लेटर
    • चालान की कॉपी (फीस डिपाजिट करने वाली)
    • दवाइयों के स्टोर करने के प्रूफ फोटोज के साथ इत्यादि कई अन्य तरह की चीज़े।

    यह हर राज्य सरकार की प्राथमिकताओं व आपकी जगह व शहर के चुनाव के अनुसार अलग अलग हो सकती हैं। हालाँकि ऊपर बताई गयी चीज़े लगभग हर मेडिकल स्टोर का लाइसेंस देने से पहले मांगी जाती हैं व उन्हें चेक किया जाता हैं।

 

सिर्फ 2 लाख रुपये में शुरू करे अपना मेडिकल स्टोर :

मेडिकल स्टोर खोलने के लिए सबसे पहले फार्मेसी कोर्स करना पड़ता है जब फार्मेसी कोर्स पूरा हो जाता है और मेडिकल के डिग्री सर्टिफिकेट कॉलेज से मिल जाता है उसके बाद फार्मेसिस्ट के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है.

मेडिकल स्टोर खोलने के लिए अपने राज्य के फार्मेसी काउंसिल में रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है अगर कोई चाहे तो यह कार्य ऑनलाइन भी कर सकता है. फार्मेसी काउंसिल में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए जो भी कोर्स किया है

उसका डिग्री और 12वीं की डीएमसी दिखाना पड़ता है जिसके बाद राज्य सरकार के तरफ से डॉक्यूमेंट को देखकर फाइनल किया जाता है और आप एक लीगली फार्मासिस्ट बन सकते हैं और खुद का मेडिकल स्टोर खोलकर बिजनेस शुरू कर सकते हैं.

रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद कहीं भी मेडिकल स्टोर खोलने से पहले दवाई बेचने से पहले एक ड्रग लाइसेंस बनवाना पड़ता है ड्रग लाइसेंस बनवाने के बाद ही फार्मेसी का बिजनेस शुरू कर सकते हैं

ड्रग लाइसेंस केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन या राज्य औषधि मानक नियंत्रण संगठन के द्वारा प्राप्त किया जा सकता है ड्रग लाइसेंस दो तरह के बनाए जाते हैं रिटेल ड्रग लाइसेंस और थोक विक्रेता ड्रग लाइसेंस.

1. रिटेल ड्रग लाइसेंस

रिटेल ड्रग लाइसेंस उसी व्यक्ति के नाम से बन सकता है उसी व्यक्ति को मिल सकता है जिसने फार्मेसी कोर्स किया है किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से डिप्लोमा या डिग्री कोर्स किया है उस व्यक्ति को राज्य औषधि मानक नियंत्रण संगठन या केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन के द्वारा लाइसेंस प्राप्त हो सकता है.

रिटेल ड्रग लाइसेंस एक छोटा मोटा साधारण सा Medical store खोलने के लिए बनवाया जाता है जहां थोड़ा बहुत दवाइयों को बेचा जाता है या स्वास्थ्य देखभाल से संबंधित सामान बेचे जाते हैं. रिटेल ड्रग लाइसेंस लेने के लिए कुछ शुल्क भी जमा करना पड़ता है.

2. थोक विक्रेता ड्रग लाइसेंस

कई ऐसे बड़े-बड़े मेडिकल स्टोर होते हैं जहां की स्वास्थ्य संबंधित अन्य कई तरह के समान या दवाइयां थोक में बेचा जाता है वैसे मेडिकल स्टोर खोलने के लिए थोक विक्रेता ड्रग लाइसेंस बनवाना पड़ता है.

मेडिकल स्टोर में फायदे : 

अब सबसे अंतिम व जरुरी बात जो आपके मन में उठती होगी वह यह कि आप इतनी मेहनत करके और निवेश करके एक मेडिकल स्टोर खोल तो लेंगे लेकिन उसमे फायदा क्या होगा। यदि आपके मन में भी यही शंका हैं कि आपके द्वारा खोला गया मेडिकल स्टोर चल भी पाएगा या नही या फिर आपके साथ वाले मेडिकल स्टोर सब कमाई कर लेंगे तो आप इस भ्रम में ना रहे।

अपने देखा होगा कि आपके शहर या गाँव में कई मेडिकल स्टोर तो एक साथ ही होते हैं या फिर कुछ कुछ दूरी पर होते हैं फिर भी उनकी कमाई में कोई अंतर देखने को नही मिलता। ऐसा इसलिए क्योंकि कोई भी व्यक्ति दवाई को उसके रंग, रूप या ब्रांड देखकर नही खरीदता। वह तो बस वही दवाई खरीदता हैं जो डॉक्टर ने उसे ;लिख कर दी हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!