मोमबत्ती उद्योग की जानकारी – Candle Making Business & Process in Hindi

मोमबत्ती Mombatti बनाने का उद्योग कैसे शुरू करें? दोस्तों हमने काफी ऐसे बिजनेस के बारे में जाना है जो आप घर बैठे शुरू कर सकते हैं। आज मैं आपको जिस बिजनेस के बारे में बताने जा रहा हूं वह एक लघु उद्योग के साथ साथ एक कुटीर उद्योग भी है। आज हम मोमबत्ती बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें यह जानेंगे। सबसे पहले तो हम यह जानेंगे कि Mombatti Udyog है क्या?

दोस्तों आपके किसी मित्र का बर्थडे हो या आपका बर्थडे हो आपने केक के ऊपर मोमबत्ती लगाते हुए तो देखा ही होगा। जब कभी भी आपके घर पर लाइट चली जाती है तब आप रोशनी के लिए मोमबत्ती का ही यूज करते हैं। दोस्तों आजकल तो टेक्नोलॉजी क्षेत्र ने इतनी तरक्की कर ली है कि मोमबत्ती की जरूरत ही नहीं पड़ती। लोग अपने मोबाइल के अंदर टॉर्च चलाकर ही रोशनी कर लेते हैं। जब यह टेक्नोलॉजी नहीं हुआ करती थी तब घरों में मोमबत्ती ही जलती थी। यहां पर आप इस बात को एक तनाव से ना लें कि मोमबत्ती का यूज़ खत्म हो गया है तो मोमबत्ती खरीदेगा कौन? आपको हम आगे चर्चा करके बताने वाले हैं कि आपके पास मोमबत्ती की कितनी बड़ी मांग है।

 मोमबत्ती उद्योग कच्चा माल – Raw Material for Candle Making Business

दोस्तों इस बिजनेस को शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको 10000 से 1 लाख तक का investment करने की जरूरत होगी। जैसा की हमने बताया था कि यह एक लघु उद्योग और कुटीर उद्योग है इसीलिए इस उद्योग के लिए आप को सरकार से भी सहायता मिलती है। इसके लिए आप सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का भी लाभ ले सकते हैं। यह बिजनेस 2 स्तर पर किया जा सकता है।

यदि आप अपने घर बैठे ही इस बिजनेस को करना चाहते है तो आपको मोमबत्ती बनाने के लिए 1 सांचे की जरूरत होगी। यदि आप बड़े स्तर पर इस बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं तो आपको एक मशीन की जरूरत होगी जिसमें सांचे लगे होते हैं और मोमबत्तियां उसी में बनती है। इसके बाद आपके पास मोमबत्ती बनाने के लिए रॉ मेटेरियल मोम की जरूरत होगी जिससे कि मोमबत्ती बनेगी। साथ ही आपको मोमबत्ती बनाने के लिए धागे, रंग और ईथर का तेल आदि की जरूरत होगी।

इसके बाद यदि आप छोटे स्तर पर इस काम को कर रहे हैं तो आप इसे अपने घर में भी कर सकते हैं और यदि आप इसे एक वृहद स्तर पर करना चाहते हैं तो आपको मशीनरी के हिसाब से जगह की जरूरत होगी यदि आपके घर में अवेलेबल ना हो तो आप इसके लिए जगह किराए पर ले सकते हैं। जहाँ तक बिजली कनेक्शन की बात है आपके लिए एक फायदे की बात यह है कि इसके अंदर बिजली कनेक्शन की जरूरत नहीं पड़ती है। यह मशीन बिजली से नहीं चलती है बल्कि यह मशीन बिना बिजली के चलती है और ना ही यह ऑटोमेटिक काम करती है। इसके अंदर मोमबत्ती बनाने के लिए आपको काफी सहायता मिलती है लेकिन इसमें काम आपको ही करना पड़ता है। इसमें आपको 3 से 4 वर्कर्स की जरूरत होगी।

मोमबत्ती कैसे बनाई जाती है Candle Making Process

दोस्तों, मोमबत्ती बनाने की विधि बहुत सरल है

  1. सबसे पहले आपको सांचो में मोमबत्ती के लिए धागों को सेट करना होता है,
  2. उसके बाद आपको सावधानी पूर्वक उचित मात्रा में मोमबत्ती की मात्रा को ध्यान में रखते हुए मोम को गर्म करना होगा।
  3. मोम के तरल हो जाने के बाद आपको मोम को मशीन में लगे सांचों में डालना होगा,
  4. मोम डालते समय इस बात का ध्यान रखें कि सभी सांचो में सही से मोम भर जाए,
  5. उसके 10 मिनट बाद आपको सांचे से मोमबत्ती निकालनी होगी, आपको कैची से धागों को काटकर मोमबत्ती को अलग करना होगा।
  6. यदि आपको अलग-अलग रंग वाली मोमबत्ती बनानी है, तो आप इस मोम के अंदर उस रंग को मिला सकते हैं, जो इसमें मिलाने के लिए आता है।
  7. मोमबत्ती निकालने के बाद आप मोमबत्ती को एक भट्टी के माध्यम से नीचे से गर्म करके उचित आकार दे सकते हैं।
  8. आप देखेंगे कि आपकी मोमबत्ती बनकर तैयार हो जायेगी। यदि आप सुंगध वाली मोमबत्ती Scented Candle बनाना चाहते हैं, तो आप इसमें कई तरह की सुंगध भी मिला सकते हैं, उसके लिए भी आपको मोम में मिलाने का मेटेरियल बाजार से मिल जाता है।

मोमबत्ती उद्योग का scope कहाँ है ?

दोस्तों, आजकल भले ही रोशनी करने के लिए मोमबत्ती का प्रचलन खत्म हो गया हो लेकिन आप बर्थडे सेलिब्रेट करते ही होंगे या कई बर्थडे पार्टियां देखी होगी जिसमें केक के ऊपर मोमबत्ती का उपयोग किया जाता है। बर्थडे पार्टी मनाने का क्रेज़ जितना पहले नहीं था उतना अब है। आप एक सोच के आधार पर देखें जैसा कि पहले वक़्त में घरों में मोमबत्ती का यूज़ होता था लेकिन अब कम होता है ठीक दूसरी ओर देखें बर्थडे पार्टियां पहले इतनी नहीं मनती थी जितनी अब मनती है। इस बात में एक फायदा ये है कि बर्थडे पार्टी में 6-7 मोमबत्ती use में लेते हैं।

साथ ही आपने देखा होगा आजकल दीपावली,शादी आदि के अवसरों पर भी घर को मोमबत्तियों से सजाया जाता है। इतना ही नहीं जब देश में कोई अपराध होता है, तो उसके लिए पब्लिक सडकों पर मोमबत्ती के द्वारा प्रदर्शन करती है। साथ ही कई बार श्रद्धांजलि देने के लिए भी मोमबत्ती जला कर श्रद्धांजलि दी जाती है। तो दोस्तों इस रिसर्च के बाद आपको पता चल गया होगा कि आपकी मोमबत्ती business के लिए scope कितना है।

इन बातों का ध्यान रखना होगा

दोस्तों, इस business के सही संचालन के लिए आपको बहुत सी बातों को ध्यान में रखना होता है। सबसे पहले आप मोम को पिघालते वक़्त आग का ध्यान रखें और इस काम में पूर्ण रूप से सावधानी बरतें। आप अपने प्रोडक्ट को ज्यादा से ज्यादा बेचने के लिए उन दुकानों के संपर्क में रहे जहां पर केक आदि बर्थडे का सामान मिलता हो क्योंकि किराणों की दुकान से लोग छूटकर मोमबत्ती खरीदने के लिए आते हैं जबकि अधिकतर लोग उसी दुकान पर मोमबत्ती खरीदने जाते हैं जहां बर्थडे के सामान मिलते हों। मोमबत्ती बनाने से पहले सांचो में oil जरूर लगाएं। इस तरह आप एक मोमबत्ती बनाने के business को शुरू कर पाएंगे। तो दोस्तों, आज हमने जाना कि आप कैसे छोटे स्तर और बड़े स्तर पर मोमबत्ती बनाने का business शुरू कर सकते हैं।

1 thought on “मोमबत्ती उद्योग की जानकारी – Candle Making Business & Process in Hindi

Leave a Comment