नर्सिंग कोर्स करने की पूरी जानकारी , फीस , कॉलेज और जॉब

हॉस्पिटल्स में डॉक्टर्स के साथ जो सहायक के रूप में काम करते है उन्हें नर्स कहा जाता है। नर्स का कोर्स मेल/फीमेल दोनों ही कर सकते है। नर्स का कोर्स करने के लिए की गयी पढ़ाई को नर्सिंग कहते है। नर्सिंग की फील्ड में बहुत स्कोप है और हमेशा ही रहेगा क्युकी नए नए हॉस्पिटल्स खुलेंगे और नर्सेज की आवश्यकता भी बढ़ेगी। नर्स का काम एक बहुत जिम्मेदारी का काम होता है। साथ ही साथ एक अच्छी नर्स में पेशेंस होना बहुत जरुरी है।
क्लास 12th PCB के बाद BSc नर्सिंग का कोर्स किया जाता है। यह एक अंडरग्रेजुएट कोर्स है। यह चार साल का कोर्स है। इस में छात्रों को नर्सिंग के बारे में प्रशिक्षण दिया जाता है। इसमें छात्रों को नर्स बनने के प्रशिक्षण के साथ साथ कल्याण, बीमारी और रोग प्रबंधन, स्वास्थ्य संवर्धन की प्रक्रियाओं पर प्रशिक्षित और शिक्षित किया जाता है। इसमें अलग अलग छेत्रों में निपुण बनाया जाता है।

नर्सिंग की फील्ड में महिलाये ज्यादा जाती है और हमने हॉस्पिटल्स में भी ज्यादातर महिलाओं को ही नर्स के रूप में देखा है ऐसा इसलिए क्युकी माना जाता है की महिलाएं देखभाल ज्यादा अच्छे से कर सकती है। इसलिए नर्सिंग की फील्ड में पुरुषो से ज्यादा महिलाएं ही देखने को मिलती है। पर ऐसा नहीं है पुरुष भी बहुत अच्छे से अपने काम को करते है। इस फील्ड में दोनों के लिए ही समान ओप्पोर्तुनिटी है। जो भी सेवा भाव रखता है या जिसको भी दूसरो की सेवा करना पसंद है वो नर्सिंग की फील्ड में अपना भविष्य बना सकता है। इसमें भविष्य काफी उज्जवल है और आने वाले समय में इसकी डिमांड और बढ़ती ही जाएगी।

नर्सिंग क्या होता है?

नर्सिंग कई तरह से होता है। जैसे आप डिप्लोमा भी कर सकते है या फिर अंडर ग्रेजुएट कोर्स भी कर सकते है किसी Recognized यूनिवर्सिटी से।
नर्सिंग से ग्रेजुएट कोर्स करने के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन (मास्टर डिग्री) भी किया जा सकता है। पोस्ट ग्रेजुएशन में आप अपनी पसंद की लाइन चुन के किसी एक छेत्र में निपुणता हासिल कर सकते है जैसे :  कार्डियोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिक्स, ऑफ्थेल्मोलॉज़ी, ऑर्थोपेडिक्स आदि। आप नर्सिंग के छेत्र में M.Phil या पीएचडी भी कर सकते है और अपना भविष्य काफी अच्छा बना सकते है।

आप नर्सिंग में अपना भविष्य बनाने के लिए पहले एक। ANM कोर्स कर सकते है। आप नर्स/मिडवाइफ/हेल्थ वर्कर का कोर्स कर सकते है। ये कोर्सेज 2 वर्ष के होते है। यह कोर्स आपको प्रशिक्षण देने के साथ साथ गाँव के लोगो के स्वास्थ सम्बंधित जानकारी भी देता है तथा उनकी देखभाल कैसे करें इस विषय मे भी समझाता है। इसमें आपको उपकरणों का प्रयोग करना, कैसे रोगी का रिकॉर्ड बनाये, उस जगह का संचालन अच्छे से करना आदि बारे में सिखाता है। इसमें विशेष कर वृद्धो, महिलाओ और बच्चो के स्वास्थ देखभाल की जानकारी दी जाती है।

एक और कोर्स है। GNM(जनरल नर्स मिडवाइफरी। यह साढ़े तीन वर्ष का कोर्स है इसमें आपको सामान्य स्वास्थ देखभाल, घरेलु दाई आदि से सम्बंधित कार्यों का प्रशिक्षण दिया जाता है। GNM में नर्सेज को एक टीम में काम करने के लिए तैयार किया जाता है। जो स्वास्थ टीम्स के साथ ग्रामीण छेत्रो में जाकर उन्हें स्वास्थ की देखभाल के बारे समझते है।

अगर आप नर्सिंग स्कूल से ग्रेजुएशन का कोर्स करते है तो इसमें 4 वर्ष का समय लगता है। क्युकी नर्सिंग ग्रेजुएट कोर्स की अवधी 4 वर्ष की है। इसमें सभी तरह के पहलुओं से निपटना सिखाया जाता है। आप ग्रेजुएशन के बाद नर्सिंग में पोस्ट ग्रेजुएशन भी कर सकते है तथा एक वर्ष का स्पेशलाइजेशन कोर्स भी कर सकते है।

कुछ एक वर्षीय डिप्लोमा कोर्सेज:

1. नर्सिंग इन कार्डियोलॉजिस्ट
2. नर्सिंग इन क्रिटिकल
3. नर्सिंग इन नेफ्रोलॉजिकल
4. नर्सिंग इन न्यूरो साइंस
5. नर्सिंग इन पीडियाट्रिक
6. नर्सिंग इन ओर्थपेडीक
7. नर्सिंग इन ओंकोलॉजिकल
8. नर्सिंग इन सीक्रेटिक

नर्सिंग के लिए योग्यता:

नर्सिंग का कोर्स करने के लिए 12th बायो से या आर्ट्स से उत्तीर्ण करना जरुरी है। आयु 17 से 35 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

GNM नर्सिंग:

12th में 40% से 50% मार्क्स होने जरुरी होता है। 12th PCB से उत्तीर्ण होना चाहिए।

B.Sc. नर्सिंग:

B.Sc. नर्सिंग के लिए 12th में फिजिक्स, केमिस्ट्री, इंग्लिश और बायोलॉजी होने जरुरी है। तथा 12th में मिनिमम 55% मार्क्स होना कंपल्सरी है। आयु 17 से 35 वर्ष के बीच होना जरुरी है।

नौकरी के लिए:

शुरुआत में आप हॉस्पिटल में सहायक स्टाफ के रूप में कार्य कर सकते है और जब आपका कोर्स कम्पलीट हो जाये उसके बाद आप वार्ड सिस्टर बन सकते हैं। आप कोर्स पूरा होने का बाद तथा एक्सपीरियंस गेन करने के बाद किसी भी प्राइवेट और सरकारी हॉस्पिटल में अच्छे वेतन पर नौकरी कर सकते है। इसके अलावा आप स्कूल में हेल्थ नर्स के रूप में, इंडस्ट्रियल नर्स, क्लिनिक और केयर सेंटर में, ड्रग कंपनी में किसी डॉक्टर के क्लिनिक में भी काम कर सकते है। आप सेना में भी नर्स की नौकरी के लिए आवेदन कर सकते है।

नर्सिंग कोर्स की फीस:

नर्सिंग सरकारी कॉलेज से भी होता है और प्राइवेट से भी परन्तु सरकारी कॉलेजेस की फीस कम होती है।

ANM की फीस:

इसकी फीस दस हज़ार से 5 लाख तक होती है।

GNM की फीस:

इसकी फीस दस हज़ार से 5 लाख तक होती है। और इस कोर्स की अवधी 4 साल की होती है।

B.Sc. नर्सिंग कोर्स की फीस:

इसकी फीस लगभग 8००० से 3०००० प्रति वर्ष तक होती है। इस कोर्स में आपको हर तरह की समस्या को सुलझाना, समुदाय में मिलकर काम करना सिखाया जाता है आपको भी अपनी कौशलता और दक्षता को प्रदर्शित करना होता है।

एएनएम के लिए पाठ्यक्रम:

पाठ्यक्रम की संरचना कुछ इस प्रकार है:

1. सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग
2. पोषण
3. पर्यावरण स्वच्छता
4. स्वच्छता
5. संक्रमण और टीकाकरण
6. प्राथमिक चिकित्सा
7. प्राथमिक चिकित्सा देखभाल
8. संचारी रोग
9. सामुदायिक स्वास्थ्य समस्याओं
10. बाल स्वास्थ्य देखभाल
11. दाई का काम
12. मानसिक स्वास्थ्य
13. स्वास्थ्य केंद्र प्रबंधन

GNM पाठ्यक्रम:

प्रथम वर्ष का पाठ्यक्रम:

1. जैविक विज्ञान
2. शरीर रचना विज्ञान और शरीर विज्ञान
3. कीटाणु-विज्ञान
4. व्यावहारिक विज्ञान
5. मनोविज्ञान
6. नागरिक सास्त्र
7. नर्सिंग की बुनियादी बातें
8. प्राथमिक चिकित्सा
9. व्यक्तिगत स्वच्छता
10. सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग- I
11. सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग
12. पर्यावरण स्वच्छता
13. स्वास्थ्य शिक्षा और संचार कौशल
14. पोषण
15. अंग्रेज़ी

द्वितीय वर्ष का पाठ्यक्रम:

1. मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग I
2. मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग
3. औषध
4. मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग II (स्पेशलिटीज)
5. संचारी रोग
6. आर्थोपेडिक नर्सिंग
7. कान, नाक और गला
8. कैंसर विज्ञान / त्वचा
9. ऑप्थाल्मिक नर्सिंग
10. मानसिक स्वास्थ्य और मनोरोग नर्सिंग
11. सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग
12. कंप्यूटर शिक्षा

तृतीया वर्ष का पाठ्यक्रम:

1. मिडवाइफरी और गायनोकोलॉजी नर्सिंग
2. सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग- II
3. बाल चिकित्सा नर्सिंग
4. इंटर्नशिप अवधि
5. नर्सिंग के अभ्यास में शिक्षण के लिए शैक्षिक तरीके और मीडिया
6. अनुसंधान के लिए परिचय
7. व्यावसायिक रुझान और समायोजन
8. प्रशासन और वार्ड प्रबंधन
9. स्वास्थ्य अर्थशास्त्र

बीएससी नर्सिंग पाठ्यक्रम:

जो उम्मादवार नर्सिंग करना चाहते हैं उनके लिए विभिन्न विश्वविद्यालयों और कॉलेजों द्वारा निर्धारित बीएससी नर्सिंग पाठ्यक्रम निम्नवत हैं-

वर्ष (I) के लिए पाठ्यक्रम:

1. एनाटॉमी (Anatomy)
2. फिजियोलॉजी (Physiology)
3. पोषण (Nutrition)
4. जीव रसायन (Biochemistry)
5. हिंदी या क्षेत्रीय भाषा
6. लाइब्रेरी कार्य
7. सह पाठ्यक्रम गतिविधियां
8. नर्सिंग फाउंडेशन (Theory and Practical)
9. मनोविज्ञान (Psychology)
10. कीटाणु-विज्ञान (Microbiology)
11. कंप्यूटर का परिचय
12. अंग्रेज़ी
वर्ष II के लिए पाठ्यक्रम:

1. नागरिक सास्त्र (Sociology)
2. औषध (Pharmacology)
3. पैथोलॉजी और जेनेटिक्स
4. लाइब्रेरी कार्य
5. सह पाठ्यक्रम गतिविधियां
6. मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग
7. सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग
8. संचार और शैक्षिक प्रौद्योगिकी (Communication and Educational Technology)

वर्ष III के लिए पाठ्यक्रम

1. दाई का काम और प्रसूति नर्सिंग (Midwifery and Obstetrical Nursing)
2. लाइब्रेरी कार्य
3. सह पाठ्यक्रम गतिविधियां
4. मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग
5. बाल स्वास्थ्य नर्सिंग
6. मानसिक स्वास्थ्य नर्सिंग

वर्ष IV के लिए पाठ्यक्रम:

1. दाई का काम और प्रसूति नर्सिंग (Midwifery and Obstetrical Nursing)
2. सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग- II
3. नर्सिंग रिसर्च एंड स्टेटिस्टिक्स
4. नर्सिंग सर्विसेज और शिक्षा का प्रबंधन (Management of Nursing Services and education)
5. लाइब्रेरी कार्य
6. सह पाठ्यक्रम गतिविधियां
7. इंटर्नशिप (समन्वित अभ्यास):
8. Adult and geriatric
9. मेडिकल-सर्जिकल नर्सिंग (Medical-Surgical Nursing)
10. बाल स्वास्थ्य नर्सिंग (Child Health Nursing)
11. मानसिक स्वास्थ्य नर्सिंग
12. दाई का काम और प्रसूति नर्सिंग (Midwifery and Obstetrical Nursing)
13. सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग II (Community Health Nursing II)
14. (Mental health Nursing)
15. Research Project
12th के बाद आप अपने मार्क्स के आधार पर आवेदन कर सकते ह। आप नर्सिंग का कोर्स सरकारी या प्राइवेट किसी भी कॉलेज से कर सकते है। कुछ प्राइवेट संस्थानों में एंट्रेंस एग्जाम भी होता है तथा इंटरव्यू भी लेते है।

नर्सिंग करने के लिए कौनसा कॉलेज अच्छा रहेगा

1). All India Institute of Medical Science, New Delhi
2). Post Graduate Institute of Medical Education & Research, Chandigarh
3). West Bengal University of Health Sciences, K Kolkata
4). Manipal Academy of Higher Education, Karnataka
5). Christian Medical College, Vellore
6). Sri Ramcharan Medical College & Research Institute, Tamilnadu
7). Bharti Vidyapeeth deemed University, Pune
8). Army College of Nursing, Jalandhar
9). Guru Gobind Singh Indraprastha University, Delhi

Leave a Comment

error: Content is protected !!