पॉलिटेक्निक कोर्स की पूरी जानकारी , करियर विकल्प , बेस्ट कॉलेज

पॉलिटेक्निक वह कोर्स है जो आपको अपने सपने को साकार करने में मदद करता है और एक स्थिर कैरियर देता है। अगर आप किसी भी बोर्ड से क्लास 10th पास है तो आप अपनी पॉलिटेक्निक की पढ़ाई के लिए आवेदन कर सकते हैं। यदि आप बिना किसी कौशल के किसी भी क्षेत्र में कार्यरत हैं तो आप पॉलिटेक्निक में शामिल हो सकते हैं यह आपके वेतन में वृद्धि में मदद करेगा। यहां तक कि आप कोर्स पूरा करने के बाद अपना खुद का व्यवसाय  भी शुरू करना चाहते है तो कर सकते हैं।

पॉलिटेक्निक कोर्स एक dynamic और साथ ही एक future oriented कोर्स है जिसमे हमेशा ही कुछ नया सीखने को मिलता है। पॉलिटेक्निक संस्थान एक जगह पर कई तरह के डिप्लोमा कोर्स कराते हैं। जो छात्र जल्द से जल्द नौकरी करना चाहते हैं, उन सभी के लिए यह पाठ्यक्रम किसी वरदान से कम नहीं है। पॉलिटेक्निक कॉलेज हर राज्य में मौजूद होते है। ये कॉलेज काफी प्रसिद्ध हैं क्योंकि वे नौकरी प्रधान पाठ्यक्रम होते हैं।

यहाँ पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम से संबंधित सभी जानकारी उपलब्ध है। पॉलिटेक्निक मूल रूप से तकनीकी पाठ्यक्रमों का डिप्लोमा है। पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम उन छात्रों के लिए best हैं जो तकनीकी क्षेत्रों में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं, लेकिन 12th पूरी करने के बाद इंजीनियरिंग या प्रौद्योगिकी में graduation की डिग्री प्राप्त नहीं कर सकते हैं। पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम डिप्लोमा स्तर के कार्यक्रम हैं, जिनमें छात्र admission ले सकते हैं और बाद में वे बी.टेक (बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी) या बी.ई. (बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग) इंजीनियरिंग में करियर बनाने के लिए कोर्स कर सकते है।  पॉलिटेक्निक कोर्स करने के बाद lateral एंट्री के जरिए B.Tech कोर्स में शामिल भी हो सकते है। पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम छात्रों को इंजीनियरिंग और उसके विषयों की तकनीकीता के बारे में जानकारी देता है।

पॉलिटेक्निक कोर्स की duration:

Polytechnic कोर्स 3 साल का होता है, आप इस कोर्स को 10th क्लास के बाद ही ज्वाइन कर सकते है, यह HSLC (हाई स्कूल लीविंग सर्टिफ़िकेट) को ज्वाइन करने से better रहता है। HSLC (हाई स्कूल लीविंग सर्टिफ़िकेट) 2 साल का  course है लेकिन डिप्लोमा डिग्री 3 साल में पूरी होती है। आप पॉलिटेक्निक का कोर्स पूरा करने के बाद आराम से B.E/BTech कोर्सेज ज्वाइन कर सकते है जिसे लोग 12th के बाद ज्वाइन करते है, जो की 4 साल का कोर्स होता है। लेकिन अगर आप डिप्लोमा करने के बाद इंजीनियरिंग कोर्स को ज्वाइन करते है तो आप सीधे 2nd year में एडमिशन ले सकते है।

Best Polytechnic Courses in India

पॉलिटेक्निक courses की बढ़ती लोकप्रियता और मांग के कारण, भारत के कई कॉलेजों ने विभिन्न विषयों में पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम करवाने शुरू कर दिए हैं। कुछ और नए कॉलेज भारत सरकार द्वारा start किए गए हैं जो केवल पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रमों को ही पूरा करवाते हैं। देश के कुछ प्रमुख कॉलेजों से लेकर निजी और सरकारी कॉलेजों तक, सभी ने अपने पाठ्यक्रम में पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रमों को शामिल किया है। कई कॉलेजों में छात्रों को पॉलिटेक्निक विशेषज्ञता और पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम की एक बड़ी choice दी जाती है। सबसे लोकप्रिय पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम कुछ इस प्रकार है –

  • Diploma in Computer Science and Engineering

  • Diploma in Civil Engineering

  • Diploma in Automobile Engineering

  • Diploma in Electronics and Communication

  • Diploma in Electrical Engineering

  • Diploma in Interior Decoration

  • Diploma in Fashion Engineering

  • Diploma in Ceramic Engineering

  • Diploma in Art and Craft

  • Diploma in Mechanical Engineering

  • Diploma in Chemical Engineering

  • Diploma in Instrumentation and Control Engineering

  • Diploma in IT Engineering

  • Diploma in Electronics and Telecommunication Engineering

  • Diploma in Aeronautical Engineering

  • Diploma in Petroleum Engineering

  • Diploma in Aerospace Engineering

  • Diploma in Mining Engineering

  • Diploma in Automobile Engineering

  • Diploma in Genetic Engineering

  • Diploma in Biotechnology Engineering

  • Diploma in Plastics Engineering

  • Diploma in Agricultural Engineering

  • Diploma in Food Processing and Technology

  • Diploma in Dairy Technology and Engineering

  • Diploma in Power Engineering

  • Diploma in Infrastructure Engineering

  • Diploma in Production Engineering

  • Diploma in Metallurgy Engineering

  • Diploma in Motorsport Engineering

  • Diploma in Environmental Engineering

  • Diploma in Textile Engineering

आप इनमें से अपनी पसंद का डिप्लोमा कोर्स चुन के उसमे एडमिशन ले सकते है।

पॉलिटेक्निक / डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश

भारत में कई पॉलिटेक्निक संस्थान हैं और इन पॉलिटेक्निक संस्थानों की प्रवेश प्रक्रिया एक दूसरे से अलग होती है। कुछ पॉलिटेक्निक संस्थान private रूप से संचालित हैं और कुछ सरकार द्वारा चलाए जाते हैं। पॉलिटेक्निक की प्रवेश प्रक्रिया इस बात पर भी निर्भर करती है कि कॉलेज या संस्थान कैसे संचालित होता है और यह किस संस्था के अंतर्गत आता है। ज्यादातर मामलों में, कॉलेज छात्रों को अपने पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रमों में प्रवेश देने के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं। प्रवेश परीक्षा देने के लिए एलिजिबिलिटी पूरी करनी पड़ती है, कक्षा 10 वीं पास होना जरुरी होता है। हर कॉलेज के पास eligibilty criteria सेट होता है, जो छात्रों को उस कॉलेज में पॉलिटेक्निक कोर्स के लिए आवेदन करने से पहले पूरी करनी पड़ती है। कुछ संस्थान पहले आओ पहले पाओ के आधार पर पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश आयोजित करते हैं। छात्र को वह कॉलेज चुनना होता है जिसमे वो सारी शर्तें पूरी कर सके।

पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रमों के लिए eligibility criteria

पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रमों के लिए eligibility criteria उस संस्थान द्वारा निर्धारित किया जाता है जिसमें उम्मीदवार प्रवेश लेना चाहता है। विभिन्न कॉलेजों और संस्थानों में पॉलिटेक्निक में admission के लिए eligibility criteria अलग-अलग हैं। हालांकि, पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रमों के लिए योग्य माना जाने वाले छात्र के लिए न्यूनतम योग्यता लगभग हर संस्थान में एक सी ही है। किसी भी कॉलेज या संस्थान के पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम में प्रवेश पाने के लिए, छात्र को दसवीं कक्षा पूरी करनी ही होगी। छात्र को गणित और विज्ञान विषयों में निश्चित संख्या में अंक प्राप्त करने चाहिए जो कॉलेज द्वारा तय किए गए हैं और उसने कक्षा 10 वीं के सभी विषयों में पूर्णतया पास होना भी जरुरी होता है।

कई कॉलेज छात्रों को अपने पॉलीटेक्निक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं और छात्रों को प्रवेश परीक्षा में बैठने के लिए basic eligibility criteria को पूरा करना पड़ता है। पॉलिटेक्निक कोर्स पूरा करने के बाद, छात्र B.Tec या B.E. का कोर्स प्रवेश के माध्यम से कर सकता है। इसके लिए guidelines कॉलेज से कॉलेज अलग-अलग हैं। कुछ कॉलेज अपने पॉलिटेक्निक डिप्लोमा डिग्री में प्राप्त अंकों के आधार पर छात्रों को सीधे admission देते हैं, जबकि कुछ कॉलेज अपने B.Tech और B.E में प्रवेश लेने से पहले छात्रों की प्रवेश परीक्षा लेते हैं।

पॉलिटेक्निक में कैरियर विकल्प

पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रमों में अपनी डिप्लोमा डिग्री पूरी करने वाले छात्रों के लिए कैरियर के काफी सारे अवसर उपलब्ध हैं। छात्रों को पॉलिटेक्निक डिप्लोमा के दौरान इंजीनियरिंग की सभी basic अवधारणाओं (concepts) को पढ़ाया जाता है जो उन्हें अपने career में स्पष्टता प्रदान करता है। कई कंपनियां ऐसे छात्रों को पार्ट टाइम नौकरी भी देती हैं जिन्होंने अपने पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम को पूरा किया है।

छात्र government sector के साथ-साथ private sector में भी नौकरी के कई अवसरों को प्राप्त कर सकते हैं। कई कंपनियां जो सरकार या उनके संबद्ध सार्वजनिक उपक्रमों (पब्लिक सेक्टर यूनिट्स) द्वारा चलाई जाती हैं, पॉलिटेक्निक डिप्लोमा धारकों को एक बढ़िया वेतन पैकेज के साथ बेहतरीन नौकरियाँ प्रदान करती हैं। उम्मीदवार जो अपने पॉलीटेक्निक पाठ्यक्रम को पूरा करते हैं, वे जूनियर स्तर के साथ-साथ तकनीकी स्तर के पदों पर भी नौकरी पा सकते हैं जो इंजीनियरिंग और गैर-इंजीनियरिंग दोनों छात्रों के लिए हैं। पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स पूरा करने पर निम्न जगहों पर सरकारी नौकरी मिल सकती है।

  • भारतीय सेना

  • गेल – गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिट्स

  • डीआरडीओ – रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन

  • ओएनजीसी – तेल और प्राकृतिक गैस निगम

  • भेल – भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड

  • बीएसएनएल – भारत संचार निगम लिमिटेड

  • एनटीपीसी – नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन

  • IPCL – इंडियन पेट्रो केमिकल्स लिमिटेड

  • एनएसएसओ – राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन

  • भारतीय रेलवे में नौकरियाँ

  • सार्वजनिक कार्य विभागों में नौकरियाँ

  • इंफ्रास्ट्रक्चर डवलपमेंट एजेंसियों में नौकरियाँ

  • सिंचाई विभागों में नौकरियाँ

इसी तरह, कई सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां अपने पॉलीटेक्निक पाठ्यक्रमों को पूरा करने वाले छात्रों को नौकरी offer करती हैं। विशेष रूप से कंपनियां जो निर्माण, विनिर्माण, इलेक्ट्रॉनिक और संचार आदि के क्षेत्र में काम करती हैं, पॉलिटेक्निक स्नातकों के लिए कई अवसर प्रदान करती हैं। पॉलिटेक्निक कोर्स में डिग्री हासिल करने वाले छात्रों को निम्न कंपनी में नौकरी मिल सकती है

  • निर्माण फर्म – डीएलएफ, यूनिटेक, जेपी एसोसिएटेड, मितास, जीएमआर इंफ्रा, आदि।

  • एयरलाइंस – स्पाइसजेट, इंडिगो, जेट एयरवेज, आदि।

  • कम्युनिकेशन फ़र्म – रिलायंस कम्युनिकेशंस, भारती एयरटेल, आइडिया सेल्युलर इत्यादि।

  • ऑटोमोबाइल – टोयोटा, मारुति सुजुकी, टाटा मोटर्स, बजाज ऑटो, महिंद्रा, आदि।

  • कंप्यूटर इंजीनियरिंग फर्म – एचसीएल, टीसीएस, पोलारिस, विप्रो, आदि।

  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग फर्म – एसीसी लिमिटेड, हिंदुस्तान यूनिलीवर, वोल्टास, आदि।

  • इलेक्ट्रिकल / पावर फर्म – बीएसईएस, टाटा पावर, एलएंडटी, सीमेन, आदि।

Top 10 Polytechnic Colleges in India:

कोउर्से के लिए भारत के कुछ अच्छे कॉलेजेस इस प्रकार है –

  • Government Polytechnic (GP), मुंबई

  • V.P.M.’s Polytechnic, ठाणे

  • S. H. Jondhale Polytechnic (SHJP), ठाणे

  • Vivekanand Education Society’s Polytechnic (VES Polytechnic), मुंबई

  • Ananda Marga Polytechnic, कोलर

  • Government Women Polytechnic College (GWPC), भोपाल

  • Government Women’s Polytechnic (GWP), पटना

  • Kalinga Polytechnic Bhubaneswar (KIITP), भुबनेश्वर

  • South Delhi Polytechnic for Women, दिल्ली

  • Baba Saheb Ambedkar Polytechnic (BSAP), दिल्ली

Leave a Comment

error: Content is protected !!