Stenographer कोर्स और shorthand सीखें , क्या है स्कोप

Stenographer scope in शॉर्टहैंड

स्टेनोग्राफी एक तरह की संछिप्त लेखन विधि है जिसमे हिंदी और इंगलिश दोनों ही भाषाओं को तेज़ स्पीड में शार्ट में लिखा जाता है। यह एक प्रोफेशनल कोर्स है और इसको सीखने में ज्यादा खर्चा भी नहीं आता और सबसे बड़ी बात यह की इसको सीख कर आप सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते है। स्टेनोग्राफर एक पेशेवर होता है जो किसी भाषा को एक कोडित रूप में अनुवाद करने की ability रखता है जिसे लोकप्रिय रूप से आशुलिपि के रूप में जाना जाता है। stenographer सूचना का आदान-प्रदान करने के लिए आशुलिपि और एक स्टेनो मशीन का उपयोग करते हैं। चुनौतीपूर्ण के रूप में जाना जाता है, एक स्टेनोग्राफर को सारे काम खुद से ही करना पड़ता है क्योंकि यहां कोई तकनीक का उपयोग नहीं किया गया है। स्टेनोग्राफर को शब्दों को रिकॉर्ड करना होता है जिसके लिए उसे हर जगह उपस्थित रहना पड़ता है।
न्यायलय में न्यायाधीश के बगल में, हर शब्द को टाइप करने वाला एक टाइपराइटर वाला व्यक्ति बैठता है। यह एक स्टेनोग्राफर का काम है। उनकी टाइपिंग की गति काफी तेज़ होनी चाहिए तभी वह शब्दों को टाइप कर पायेगा।
वैसे तो टेक्नोलॉजी ने सब कुछ बदल दिया है इसके बाद भी स्टेनोग्राफर की मांग काम नहीं हुयी है। स्टेनोग्राफर की सेवाओं का उपयोग कई क्षेत्रों जैसे कि कोर्ट रूम, सरकारी कार्यालयों, सीईओ के कार्यालयों, राजनेताओं, डॉक्टरों और कई अन्य क्षेत्रों में किया जाता है। इनकी मांग अधिक होने के कारण स्टेनोग्राफर की नौकरी बहुत फायदेमंद होती है।
स्टेनोग्राफर के लिए eligibility-
नौकरी लेने से पहले, एक छात्र को नौकरी पाने के लिए stenography में एक course करने की आवश्यकता होती है।
Educational योग्यता: छात्र को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कक्षा 12th pass होना चाहिए। छात्र किसी भी स्ट्रीम में पास हो सकता है, लेकिन कक्षा 12th में कम से कम 60% marks होने चाहिए।
आयु: उम्मीदवार की आयु 18 से 27 वर्ष के बीच होनी चाहिए। आयु सीमा सरकारी कार्यालयों द्वारा निर्धारित की जाती है। इस पद के लिए 80 शब्द प्रति मिनट की स्पीड होना बहुत जरुरी है।
कार्य :
Stenographer का कार्य एक गरिमा पूर्ण कार्य है और इसके कई पद होते हैं। एक स्टेनोग्राफर को ऑफिस के confidential काम को संभालना, विश्वास बनाये रखना होता है। स्टेनोग्राफर की नियुक्ति विभागाद्याख के पर्सनल हेल्पर के रूप मैं होती है। 

सैलरी :
Stenographer की सैलरी बहुत अच्छी होती है। अगर आपकी टाइपिंग स्पीड अच्छी हैं और आप अपने काम मैं कुशल हैं तो आप सीधे राज पत्रित अधिकारी के पद पर जा सकते हैं और उसके बाद संसद या विधान सभा मैं रिपोर्टर के पद पर अपॉइंट हो सकते हैं। स्टेनोग्राफर की पोस्ट सेकंड श्रेणी की हैं। स्टेनोग्राफर का सैलरी ग्रेड के अनुसार अलग – अलग होती है लेकिन स्टार्टिंग सैलरी लगभग 30,000 तक होती है।

चयन प्रक्रिया:
योग्य उम्मीदवारों के पास भाषा पर एक अच्छी पकड़ होनी चाहिए। चाहे अंग्रेजी हो या हिंदी या कोई अन्य क्षेत्रीय भाषा आपको भाषा मैं कुशल  होना चाहिए। Stenography के बारे में जानने के लिए आप किसी भी प्रशिक्षण केंद्र में कोर्स ज्वाइन कर सकते है। कोर्स सीखने की अवधि 6 महीने से 1 वर्ष के बीच होती है। ख़ास बात जिसे विशेष ध्यान रखना हैं वह है टाइपिंग स्पीड और कुशल तरीका। आप शॉर्टहैंड और टाइपिंग में सर्टिफिकेट या डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते हैं।
शॉर्टहैंड और टाइपिंग का कोर्स करने के बाद, आप स्टेनोग्राफर की नौकरी के लिए आवेदन कर सकते है। आप अदालतों में जा सकते हैं, वकीलों से मिल सकते हैं या निजी संगठनों में जा सकते हैं। SSC, UPSC, राज्य सेवा चयन बोर्ड, बैंकिंग सेवा भर्ती बोर्ड स्टेनोग्राफर के पदों की vacancy निकालतें हैं।

स्टेनोग्राफर कोर्सेज:

  • पॉलिटेक्निक कॉलेज द्वारा मॉडर्न ऑफिस मैनेजमेंट
  • आई टी आई कोर्सेज या भारतीय टेक्निकल इंस्टिट्यूट कोर्सेज
  • डिप्लोमा
एग्जाम:
इसमें जर्नल नॉलेज, जनरल इंग्लिश, हिंदी, जनरल मैथमेटिक्स और रीजनिंग के प्रश्न आतें हैं। इसमें स्किल टेस्ट भी देना होता हैं जिसमे आपकी टाइपिंग स्पीड का टेस्ट होता है।
स्टेनोग्राफर डी – ग्रेड अंग्रेजी अंगेज़ी मैं 50 मिनट और हिंदी मैं 65 मिनट।
स्टेनोग्राफर सी – ग्रेड अंग्रेजी अंगेज़ी मैं 40 मिनट और हिंदी मैं 55 मिनट
जॉब संभावनाएं:
केंद्रीय और राज्य सचिवालयों, विदेश सेवा कार्यालयों, रेलवे, निगम कार्यालयों, बैंक, सैन्य सेनाओं के मुख्यालय, निर्वाचन कार्यालय, रिसर्च डिज़ाइन और प्राइवेट कंपनियों मैं स्टेनोग्राफर की जॉब के लिए आप अप्लाई कर सकते हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!